जेसीडी इंजी. कॉलेज 'ओपन सोर्स मल्टीमीडिया टूल' विषय पर साप्ताहिक कार्यशाला का शुभारंभ

सिरसा(प्रैसवार्ता)। आज के इस युग में तकनीक के माध्यम से सूचनाओं का आदान-प्रदान आसान हो गया है, जिसका एक उदाहरण हम लोगों के हाथों में रहने वाले मोबाइल फोन है क्योंकि इसमें इतने मल्टीमीडिया टूल उपलब्ध हैं कि पलभर में हम फोटो, विडिय़ों व कोई भी डाटा विश्व के किसी भी कोने में आसानी से भेज सकते हैं परंतु इनका प्रयोग करने से पूर्व इनके बारे में जानकारी हासिल करना अति-आवश्यक है। इसलिए जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित इंजीनियरिंग कॉलेज में 'ओपन सोर्स मल्टीमीडिया टूल' विषय पर साप्ताहिक कार्यशाला का आज विधिवत् शुभारंभ हुआ, जिसमें कॉलेज के प्राचार्य डॉ. गुरचरण दास एवं वरिष्ठ सलाहकार डॉ. एन.एस. भाल ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की गई। इस कार्यशाला का आयोजन राष्ट्रीय तकनीकी शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान चंडीगढ़ के सौजन्य से विडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से करवाया गया, जिसमें एनआईटीटीटीआर के निदेशक डॉ. एम.पी. पूनियां तथा प्रो. पी.के. तुलसी द्वारा विभिन्न सत्रों में अपने संबोधन में माध्यम से जानकारी प्रदान की गई। इस मौके पर एनआईटीटीटीआर के निदेशक डॉ. एम.पी. पूनियां ने इस कार्यशाला की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमारा देश विश्य के सबसे बड़े लोकतंत्र वाला देश है जिसकी 54 प्रतिशत से अधिक जनसंख्या युवा हैं, जिनकी आयु 25 वर्ष से कम की है, इसलिए हमें चाहिए कि हमारे युवाओं को इतना जागरूक किया जाए ताकि वे आधुनिक तकनीकी के साथ तालमेल बढ़ा लें तो देश को विकास की ऊचांइयों पर ले जा सकते हैं। डॉ. पूनियां ने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि यह कार्यशाला आपको आधुनिक तकनीक में प्रयोग होने वाले मल्टीमीडिया टूल्स पर आधारित जानकारी प्रदान करने के लिए ही आयोजित की जा रही है, इसलिए आप इसमें अधिक से अधिक बढ़-चढ़कर हिस्सा लें ताकि आपको तकनीकी ज्ञान प्राप्त हो सके। इस अवसर पर सर्वप्रथम इंजी. कॉलेज के प्राचार्य डॉ. गुरचरण दास ने वक्ताओं का स्वागत करते हुए उनकी उपलब्धियों से विद्यार्थियों को अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ समय-समय पर ऐसे आयोजन करवाता रहता है तथा निकट भविष्य में भी कार्यशालाओं का आयोजन करके विशेषज्ञों को आपसे मुखातिब करते रहेंगे ताकि आपको नवीनतम जानकारी हासिल हो सके और आप बेहतर विकल्प चयन करके सफलता हासिल कर सकें। उन्होंने अपने संबोधन में एनआईटीटीटीआर के निदेशक डॉ. एम.पी. पूनियां का आभार व्यक्त किया तथा विद्यार्थियों को समझाया कि शिक्षा के साथ-साथ ऐसे कार्यक्रमों में भी उन्हें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए ताकि वे स्वयं को अपडेट रख सकें। उन्होंने बताया कि इस कार्यशाला का आयोजन इलैक्ट्रॉनिक्स विभाग के अध्यक्ष मनीष मेहता की देखरेख में किया जा रहा है तथा इस साप्ताहिक कार्यशाला में विद्यार्थियों को गुगल हैंगआऊट, ऑर्ट ऑफ इल्यूसन, विडियो लेक्चर मेकिंग, ओपन ऑफिस इत्यादि विषयों पर जानकारी प्रदान की जाएगी। इस कार्यशाला में संस्थान के 50 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। 

No comments