हरियाणवी नेताओं का जेल से है पुराना याराना

सिरसा(प्रैसवार्ता)। हरियाणवी राजनेताओं का जेल से पुराना संबंध है, जो 1977 से चल रहा है। कई राजनेता तो जेल से ही चुनाव लड़कर विजयी परचम लहरा चुके है। हरियाणवी राजनेता बाहुबली कहलाने में गर्व महसूस करते है। बीमारी का बहाना लेकर जमानत पर आए पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला प्रदेशभर में घूम-घूम कर जनसभाएं कर रहे है, हालांकि अदालत ने जेबीटी भर्ती घोटाले ने चौटाला को दस वर्ष कैद की सजा सुनाई हुई है। राज्य में 1977 में पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल को गिरफ्तार किया गया था, मगर जमानत मिलने की वजह से जेल जाने से बच गए थे। वर्ष 1986 में चौ.देवीलाल के नेतृत्व में शुरू किए गए रेल रोको अंदोलन में कई राजसी नेताओं को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया था, जिनमें मौजूदा भाजपाई सांसद रतन लाल कटारिया भी शामिल थे। चौ.भजनलाल सरकार में मंत्री रहे आनंद सिंह दागी को भी जेलयात्रा करनी पड़ी थी, जबकि पूर्व विधायक बाली पहलवान हत्या के आरोप में जेल जा चुके है और वर्तमान में जमानत मिलने के बाद फरार चल रहे है। भजनलाल सरकार में ही मंत्री रहे जयप्रकाश गुप्ता को चैक बाऊंस के मामले में दो वर्ष की सजा हुई थी, जबकि अपहरण के एक मामले की जांच में घिरे हुए है। पूर्व मंत्री तजेंद्र मान तथा निर्मल सिंह हत्या के मामले में जेेल की रोटियां खा चुके है। निर्मल सिंह तीन वर्ष तक जेल में ही रहे और जेल से ही चुनाव लड़कर विजयी हुए थे। पूर्व विधायक जय प्रकाश भी 40 दिनों तक जेल यात्रा कर चुके है। पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला, इनैलो विधायक अजय चौटाला तथा शेर सिंह बडशामी को दस-दस वर्ष की कैद हुई है। सिरसा से निर्दलीय विजयी विधायक चुने गए गोपाल कांडा, जिलेराम शर्मा, ओपी जैन भी अलग-अलग मामलों में जेल की हवा खा चुके हैै। गोपाल कांडा गीतिका शर्मा आत्महत्या प्रकरण, परिवहन मंत्री रहे ओ पी जैन तथा मुख्य संसदीय सचिव जिले राम शर्मा पर नौकरी में रिश्वत लेेने और सरपंच की हत्या का आरोप है। हुड्डा सरकार में खेल मंत्री रहे सुखबीर कटारिया पर फर्जी वोट का मामला अदालत के विचाराधीन है। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर व उद्योग मंत्री रणदीप सुरजेवाला पर अलग अलग मामलों को लेकर मामले अदालत में चल रहे है। पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला अपने विधायक पुत्र अजय चौटाला व अभय चौटाला के साथ आय से अधिक संपति के मामले में अदालत का सामना कर रहे है।

No comments