जेसीडी इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों ने जीजेयू में मनवाया खेलों में अपना लोहा

सिरसा(प्रैसवार्ता)। विगत दिवस गुरु  जम्भेश्वर विश्वविद्यालय हिसार में आयोजित इंटर कॉलेज बैडमिंटन प्रतियोगिता में जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज के विद्यार्थियों ने हिस्सा लेकर अपनी खेल प्रतिभा का बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए जीत दर्ज करके ट्राफी पर कब्जा जमाते हुए अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। इस प्रतिस्पर्धा में संस्थान के 5 विद्यार्थियों अर्शवीर सिंह, अंशुल टूटेजा, रजत सेठी, अंकित टूटेजा व धर्मवीर कुमार ने कॉलेज के स्पोर्ट्स इंचार्ज प्रो. प्रदीप कादयान की अगुवाई में हिस्सा लिया तथा फाइनल मुकाबले में जीजेयू की टीम को हराकर विजयश्री हासिल की।  इस मौके पर जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य डॉ. गुरचरण दास ने छात्रों को इस जीत की बधाई देते हुए एवं उनका उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि उन्हें निकट भविष्य में खेलों में अपने प्रयास जारी रखने तथा बेहतर प्रदर्शन के लिए हरसंभव सहयोग प्रदान किया जाएगा ताकि वे कामयाबी प्राप्त करके अपना व कॉलेज का नाम रोशन कर सकें। उन्होंने कहा कि होनहार विद्यार्थियों को समय-समय पर कॉलेज इस प्रकार की खेल प्रतिस्पर्धाओं में विद्यार्थियों को भेजकर उन्हें प्रोत्साहित करता रहता है। डॉ. दास ने बताया कि इस प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए हमारे विद्यार्थी अंशुल टूटेजा, रजत सेठी व अंकित टुटेजा का चयन इंटर यूनिवर्सिटी टूर्नामेंट हेतु किया गया है, जो कि 27 अक्तूबर को जम्मू में आयोजित होने वाले टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए जाएंगे। विद्यार्थियों द्वारा अपनी इस जीत के पश्चात् जेसीडी विद्यापीठ के प्रबन्ध निदेशक रियर एडमिरल राव सुरेन्द्र सिंह से मुलाकात की गई। उन्होंने विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि जेसीडी विद्यापीठ अनुशासित, संस्कारित एवं तकनीकि शिक्षा के साथ-साथ खेलों को बढ़ावा देने के लिए अधिकाधिक सुविधाएं प्रदान की जाएंगी ताकि यहां का विद्यार्थी प्रत्येक क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन कर सकें। उन्होंने कहा कि यह कॉलेज एवं विद्यार्थियों के लिए हर्ष का विषय है कि उनके तीन विद्यार्थियों का चयन गुरु  जम्भेश्वर विश्वविद्यालय की टीम में किया गया है तथा वह इंटर यूनिवर्सिटी प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा कि खेलों से जहां हमारा मानसिक विकास होता है वहीं इससे हम शारीरिक रूप से सुदृढ़ भी बनते हैं, इसलिए प्रत्येक विद्यार्थी को किसी न किसी खेल में अवश्य हिस्सा लेना चाहिए। 

No comments