संत गुरमीत राम रहीम की फिल्म को लेकर विवाद

सिरसा(प्रैसवार्ता)। डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम की ओर से रिलीज होने जा रही फिल्म मैसेंजर ऑफ गॉड(एमएसजी) को लेकर विवाद पैदा हो गया है। बताया जा रहा है कि सिखों की कुछ जत्थेबंदियों ने यह ऐलान किया है कि वे इस फिल्म को पंजाब में नहीं चलने देंगे। ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट फैडरेशन के अध्यक्ष करनैल सिंह पीर मोहम्मद ने तो बकायदा तौर पर अमृतसर में प्रेस कॉफ्रेंस कर घोषणा कर दी। उनकी मांग है कि पिक्चर बनाने वाले बाबे ने कहां से पैसा लिया। उन्होंने कहा कि पैसा भोले भाले लोगों का है और इस पर इसने टैक्स से छूट ले रखी है। इसके अलावा अकाली दल अमृतसर के अध्यक्ष सिमरजीत सिंह मान ने कहा है कि सैंसर बोर्ड इस पिक्चर को पूरे हिंदुस्तान में बैन करे, क्योंकि यह संत विवादित है। इसने गुरूबाणी को ठेस पहुंचाई है। राम रहीम सिखों को चिढा रहा है और वह पिक्चर को नहीं चलने देंगे। सिमरनजीत सिंह मान ने कहा कि इसके पीछे आरएसएस भी है, क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी खुद इसके डेरे पर आए थे। हालांकि दमदमी टकसाल के मुखी हरनाम सिंह धुमा ने इस पर कुछ भी कहने से मना कर दिया। सिरसा डेरे के प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम की पिक्चर 16 जनवरी को रिलीज होने जा रही है। इस पिक्चर में संत राम रहीम ने हीरो की भूमिका अदा की है।

पिक्चर देखने के बाद ही कुछ कह पाएंगे : डॉ. दलजीत चीमा
पंजाब की सत्ता पर काबिज शिरोमणी अकाली दल ने फिलहाल इस पर अपना रूख स्पष्ट नहीं किया। इस फिल्म के बारे में पूछे गए सवाल पर शिरोमणी अकाली दल ने प्रवक्ता डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि वह अभी इस मुद्दे पर कुछ नहीं कह सकते, जब तक फिल्म मार्किट में नहीं आ जाती। देखा जाएगा कि फिल्म में कुछ आपत्तिजनक है या नहीं। अगर कुछ गलत पाया जाता है, तो फिल्म को रूकवाने के लिए सेंसर बोर्ड को अपरोच करेंगे।

No comments