हरियाणा, जहां हर दूसरे दिन भ्रष्टाचारी होता है काबू

सिरसा(प्रैसवार्ता)। हरियाणा में भाजपा सरकार बनते ही भ्रष्ट अधिकारियों व कर्मचारियों की नींद हराम हो गई है, क्योंकि विजीलैंस विभाग के अभियान के तहत हर दूसरे दिन किसी न किसी भ्रष्टाचारी पर कानूनी शिकंजा कसा जा रहा है। प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार विजीलैंस विभाग हरियाणा ने बीते 35 दिन में 24 अधिकारियों व कर्मचारियों को एक हजार रूपये लेकर एक लाख रूपये तक रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है, जिनमें राजपत्रित अधिकारी व कर्मी शामिल है। हरियाणा में यह पहला अवसर है, जब वरिष्ठ अधिकारियों पर विजीलैंस विभाग की गाज गिरी है, जबकि इससे पहले निचले स्तर के कर्मचारी ही विजीलैंस विभाग की चपेट में आते रहते है। चौकसी ब्यूरों के महानिदेशक यशपाल सिंघल ने प्रैसवार्ता से कहा कि सरकार प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना चाहती है, जिसके लिए भ्रष्ट अधिकारियों व कर्मचारियों पर शिकंजा कसने के लिए विजीलैंस ने टोल फ्री नंबर 18001802022/1064 जारी किया है, जिस पर रिश्वतखोरो की सूचना दी जा सकती है। विजीलैंस ब्यूरों हरियाणा ने सिरसा स्थित चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के एक्सीयन एवं संपदा अधिकारी एसके विज, पानीपत के खनन निरीक्षक राम मूर्ति, नगर परिषद भिवानी के भवन निरीक्षक संजीव अरोड़ा, सीआईए होडल के एएसआई अब्दुल रिजाक व सिपाही बलजीत सिंह, रेवाड़ी के वनरक्षक सुरेंद्र कुमार, फरीदाबाद थाने के सब इंस्पेक्टर सुरेश कुमार, बादली पुलिस चौकी के मुुख्य सिपाही प्रवीण कुमार, करनाल के हल्का पटवारी सतीश कुमार, वन खंड अधिकारी मामराज, कंप्यूटर आपरेटर फतेहाबाद सतीश कुमार के अतिरिक्त एच एस आई डी सी के एक्सीयन व फूड सप्लाई इंस्पैक्टर को रंगे हाथों पकड़कर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है। 

No comments