रेडियो मिर्ची ने किया पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री को सलाम

जालंधर(प्रैसवार्ता)। सूफी से हिप-हॉप तक, फॉक से रैप तक, फिल्मी से पॉप तक, पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री को सलाम करने के लिए हुए इस बड़े आयोजन ने सभी कलाकारों और उनके फैन्स को मंत्रमुग्ध कर दिया। यह था रेडियो मिर्ची का पहला 'रॉयल स्टैग मिर्ची म्यूजिक अवॉड्र्स-पंजाबी' जिसने शहर के लोगों को एक यादगार रविवार दिया। पीएपी ग्राउंड्स में आयोजित हुई इस अवॉर्ड सेरेमनी में पंजाबी म्यूजिक और फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने लोग शिरकत करने पहुंचे।
                   एक तरफ जहां पंजाबी जट जैजी बी और सोहणी कुड़ी सुरवीन चावला ने शो होस्ट किया, वहीं कई कलाकारों ने मंच पर यादगार परफॉर्मेंस भी दीं। सलीम, गिप्पी ग्रेवाल, दिलजीत दोसांझ, बादशाह, डॉ. ज्यूस एंड जोरा, माफिया मंडीर के अल्फाज, मनी औजला और लियो, उन्नति दावरा, ओशीन, वमिका गब्बी और खुद जैजी बी ने गायकी और डांस की बेहतरीन परफॉर्मेंस लोगों की हूटिंग के बीच दीं। गुरदास मान को बब्बल राय, जस्सी गिल और प्रभ गिल द्वारा दी गई ट्रिब्यूट खास आकर्षण रही। सलीम के पिता उस्ताद पूरन शाह कोटी को पंजाबी म्यूजिक को दिए गए अमूल्य योगदान के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। जब जैजी बी और सुरवीन ने स्टेज से कुछ देर के लिए ब्रेक लिया तब जसविंदर भल्ला और उनके पुराने साथी बाल मुकुंद शर्मा ने मंच संभाला।
                      रेडियो मिर्ची के एसवीपी और रीजनल मैनेजर विवेक मोदी ने कहा कि सबसे पहला रॉयल स्टैग मिर्ची म्यूजिक अवॉड्र्स-पंजाबी लॉन्च करना एक बेहतरीन अनुभव रहा। पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री और जालंधर के लोगों से जो रिस्पॉन्स हमें मिला है वह काबिल-ए-तारीफ है। इस अनुभव से हम बेहद संतुष्ट हैं और इस इवेंट को हर साल आयोजित करने की योजना बना रहे हैं।
                     रीजन की प्रख्यात इवेंट मैनेजमेंट कंपनी परिंदे की टीम इस अवॉर्ड सेरेमनी की सफलता की वजह बनी। कंपनी की तरफ से बोलते हुए मिर्ची म्यूजिक अवॉड्र्स-पंजाबी की प्रोजेक्ट हेड प्रभजोत महंत ने कहा कि यह इवेंट बेहतरीन तरीके से सफल रहा और यह सिर्फ और सिर्फ इंडस्ट्री की सपोर्ट से ही मुमकिन था। सभी एक्टर्स और म्यूजिक लेबल ने हर कदम पर हमारा साथ दिया है और एक बार फिर हमारे आइडिया और नई कोशिशों को तामील दी गई। अवॉर्ड सेरेमनी के क्रिएटिव डायरेक्टर मंजीत हंस ने कहा कि यह अवॉड्र्स पहले से बॉलीवुड के म्यूजिक के लिए होते आ रहे हैं और एक नेशनल इवेंट की तरह हैं। हमनें भी पंजाब में इसे उसी स्तर पर आयोजित किया है और हर नए साल में इसे और ऊंचा स्तर देंगे।
अवॉर्ड और विजेता:
फिल्म सॉन्ग ऑफ द ईयर - मैं लजपलन दे (दिल विल प्यार व्यार)
फिल्म एल्बम ऑफ द ईयर - पंजाब 1984
लिसनर्स चॉइस फिल्म सॉन्ग ऑफ द ईयर - स्वाह बण के (पंजाब 1984)
लिसनर्स चॉइस फिल्म एल्बम ऑफ द ईयर - पंजाब 1984
फिल्म मेल वोकलिस्ट ऑफ द ईयर - गुरदास मान (मैं लजपलन दे - दिल विल प्यार व्यार)
फिल्म फीमेल वोकलिस्ट ऑफ द ईयर - हर्षदीप कौर (लोरी - पंजाब 1984)
फिल्म म्यूजिक कंपोजर ऑफ द ईयर - जयदेव कुमार (हत्थां विच - मिस्टर एंड मिसेज 420)
फिल्म लिरिसिस्ट ऑफ द ईयर - अब्दुल सत्तार नियाज़ी (मैं लजपलन दे - दिल विल प्यार व्यार)

No comments