कबड्डी कप में राजनीतिक कबड्डी : चौटाला की जगह खट्टर

बठिण्डा(प्रैसवार्ता)। हरियाणा के विधानसभा चुनाव में भाजपा की सहयोगी शिरोमणी अकाली दल द्वारा  भाजपा का विरोध और इनैलो के समर्थन को लेकर अकाली-भाजपा में आई खटास को मिटाने के लिए अकाली दल ने भाजपा के  आगे आत्मसमर्पण कर दिया है। भाजपा ने हरियाण में अकाली दल की इनैलो मदद पर कड़ा रूख अपनाते हुए पंजाब में अपनी सक्रियता बढ़ा दी, जिससे अकाली दल की बेचैनी बढऩी स्वाभाविक थी। अकाली दल के सरंक्षक एवं मुख्यमंत्री पंजाब प्रकाश सिंह बादल ने अकाली दल व भाजपा के बीच खेले जा रहे आंख मिचौली के खेल में राजनीतिक कबड्डी खेलते हुए पंजाब सरकार द्वारा बादल ग्राम में करवाए गए पांचवे विश्व कबड्डी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर को मुख्यातिथि बनाकर राजनीतिक तस्वीर में उल्ट पुल्ट कर दिया है। इस कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री सरबानंद सोनेवाल बतौर विशेष अतिथि शामिल हुए। अकाली दल द्वारा भाजपाई दिग्गजों को मुख्यातिथि तथा विशेष अतिथि बनाने से चर्चा शुरू  हो गई है कि अकाली दल का इनैलो के प्रति मोह एक राजनीतिक मजबूरी के चलते कम हो गया है। पिछले कबड्डी कप के विजेता रहे बठिण्डा की अनदेखी के साथ साथ चौटाला परिवार की भी अनदेखी से संकेत मिलते है कि अकाली दल की राजनीतिक सोच में बदलाव आ गया है, जबकि इससे पूर्व कबड्डी समारोहों में चौटाला परिवार की तूती बोलती रही है। अकाली दल द्वारा चौटाला परिवार की अनदेखी और खट्टर की बतौर मुख्यातिथि उपस्थिति से क्यास लगाया जाने लगा है कि इनैलो की जगह भाजपा ने ले ली है। पहले कबड्डी मैचो पर खर्च करने वाली कंपनी भी अकाली-भाजपा में खटास की चर्चाओं के चलते चुप्पी साधे रही, जिस कारण करोड़ों रूपयों का यह खर्च पंजाब सरकार को ही करना पड़ा।

No comments