भारतीय राजनीतिक इतिहास में सात मुख्यमंत्री लगातार पद पर रहकर बना रहे है कीर्तिमान

सिरसा(प्रैसवार्ता)। भारतीय राजनीतिक इतिहास में विभिन्न विभिन्न राजनीतिक दलों से संबंधित लगातार मुख्यमंत्री के पद पर आसीन रहने का कीर्तिमान बना रहे है, जिनमें सिक्किम के पवन कुमार चामलिंग, त्रिपुरा के माणिक, ओडीशा के नवीन पटनायक, असम के तरूण गगोई, मणिपुर के ओकराम हबोबी सिंह, छत्तीसगढ़  के डॉ. रमन सिंह तथा मध्यप्रदेश के शिवराज चौहान शामिल है। प्रैसवार्ता द्वारा एकत्रित की गई जानकारी के अनुसार राजसी कीर्तिमान के शिखर पर 64 वर्षीय पवन कुमार चामलिंग मुख्यमंत्री के साथ साथ क्षेत्रीय पार्टी सिक्किम डैमोक्रेटिक फ्रंट से संबंधित है और पांचवी बार मुख्यमंत्री बने है, जबकि इस राजसी कीर्तिमान के दूसरे नंबर पर त्रिपुरा के 65 वर्षीय माणिक है, जो चौथी बार मुख्यमंत्री बने है तथा सीपीआई(एम) से संबंधित है। तीसरे नंबर पर ओडीशा के 68 वर्षीय नवीन पटनायक है, जो चौथी बार मुख्यमंत्री बने है और वह राज्य की क्षेत्रीय पार्टी बीजू जनता दल के सर्वेसर्वा है। अविवाहित नवीन पटनायक को राजनीति विरासत में मिली है।  असम के मुख्यमंत्री तरूण गोगाई तीसरी बार है, जिन्हें अशांत  प्रदेश का शांत मुख्यमंत्री भी कहा जाता है। गोगाई कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए है। इसी क्रम में पांचवे नंबर पर मणिपुर के 66 वर्षीय ओकराम हबीबी सिंह है, जो तीसरी बार मुख्यमंत्री बने है। इन्होंने भी कांग्रेसी ध्वज उठाया हुआ है। अपने जीवन के 72 वे वर्ष में पहुंच चुके डॉ. रमन सिंह तीसरी बार मुख्यमंत्री बने है और भारतीय जनता पार्टी से संबंधित है। डॉ.रमन सिंह केंद्रीय मंत्री भी रह चुके है। मध्यप्रदेश के 55 वर्षीय शिवराज चौहान भाजपा से संबंधित है और तीसरी बार मुख्यमंत्री बने है।

No comments