कालांवाली में आयकर विभाग की छापामारी

सिरसा(प्रैसवार्ता)। वित्त वर्ष २०१४-१५ की समाप्ति से पूर्व आयकर विभाग की ओर से कस्बा कालांवाली में बुधवार को एक साथ पांच स्थानों की औचक आयकर जांच शुरु की। आयकर विभाग की औचक जांच की भनक मिलते ही मंडी कालांवाली में खलबली मच गई। टैक्स चोरों ने अपने दो नंबर के दस्तावेज दाएं-बाएं करने शुरु कर दिए। आयकर विभाग की पांच टीमों ने औचक जांच का नेतृत्व किया। आयकर विभाग की ओर से मंडी कालांवाली में दो डाक्टरों व मार्बल व टाइल शोरुम को जांच के घेरे में लिया। आयकर आयुक्त हिसार रेंज अशोक सिरोहा के निर्देश पर संयुक्त आयकर आयुक्त सिरसा भवानी शंकर की देखरेख में आयकर विभाग की पांच टीमों ने औचक जांच की कार्रवाई को अमल में लाया। आयकर विभाग की टीम ने डाक्टर रमेश नंदनपुरी के पुराने भवन व नए भवन, रोहतक बवासीर अस्पताल, बस स्टैंड के निकट दुर्गा ट्रंक हाऊस, बीआर टाइल्स व बांसल मार्बल हाऊस के कागजात खंगाले। आयकर विभाग की ओर से इन टीमों में डिप्टी कमीशनर इनकम टैक्स शंभु दयाल, आयकर अधिकारी जेएस बलहारा, आरके गर्ग, आरके मुंजाल, नरेन्द्र सिंह, दलीप सिंह, पूनम, कैलाशवंती, धन्नो देवी, ओमप्रकाश, सतीश भल्ला, निरीक्षक राजेन्द्र चौधरी, महावीर, सतीश रंगा, देवेन्द्र गोदारा, सतीश कुमार, सुरेश नागरु, पंकज सोनी शामिल थे। आयकर विभाग की इन टीमों के साथ काफी संख्या में पुलिस बल भी था। आयकर अधिकारियों ने पांचों स्थानों पर आयकर संबंधी कागजात अपने कब्जे में लिए और उनकी जांच पड़ताल शुरु कर दी। बताया जाता है कि आयकर विभाग की ओर से की गई यह कार्यवाही रुटीन की कार्यवाही है। विभाग की ओर से वित्त वर्ष की समाप्ति पर आयकर का दायरा बढ़ाने के लिए इस प्रकार की औचक जांच की जाती है। आयकर अधिकारियों द्वारा कम एडवांस टैक्स जमा कराने वालों पर नजर रखी जाती है और उसके तहत ही उन संस्थानों व प्रतिष्ठानों की जांच की जाती है।

No comments