डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को अदालत ने दिया झटका, बहस शुरू करने की याचिका हुई खारिज

सिरसा(प्रैसवार्ता)। साध्वियों के साथ यौन शोषण के मामले में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां को अदालत ने एक बड़ा झटका दिया है। सीबीआई की विशेष अदालत ने इस मामले में गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां द्वारा लगाई याचिका को खारिज करते हुए अंतिम बहस शुरू करवा दी। इस मामले में आगामी 23 मार्च को पुन: हाजिर होने के आदेश दिए गए हैं। इसी के साथ पत्रकार छत्रपति तथा रणजीत हत्या मामलों की सुनवाई के लिए 4 अप्रेल की तारीख मुकर्रर की गई है। प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह करीब सवा 9 बजे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां ने सिरसा अदालत परिसर में पहुंचकर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सीबीआई की पंचकूला स्थित विशेष अदालत के समक्ष हाजिरी लगाई। अदालत की कार्रवाई शाम करीब 4 बजे तक चली। इस दौरान डेरा मुखी को अदालत में हाजिर रहना पड़ा।  उल्लेखनीय है कि विगत तारीख पर अदालत द्वारा आरोपी पक्ष को साध्वी यौन शोषण प्रकरण में अंतिम बहस के लिए तैयार होकर आने को कहा था। शनिवार को अदालत में जब इस मामले की सुनवाई शुरू हुई तो डेरामुखी द्वारा उच्च न्यायालय में लगाई गई एक याचिका का हवाला देकर अंतिम बहस शुरू न करने की गुहार अदालत से लगाई गई। लेकिन अदालत ने डेरामुुखी की याचिका खारिज करते हुए सीबीआई को अंतिम बहस शुरू करने को कहा। लंबी चली कार्रवाई के दौरान सीबीआई ने अपनी ओर से की जाने वाली बहस की कार्रवाई पूरी कर दी। इसके बाद डेरा प्रमुख पक्ष की बहस की बारी आई लेकिन समय को देखते हुए अदालत ने इस मामले में आगामी कार्रवाई के लिए 23 मार्च की तारीख निर्धारित कर दी।  इसके अलावा पत्रकार छत्रपति तथा रणजीत हत्या मामलों में शनिवार कोई सुनवाई नहीं हो पाई। इन दोनों मामलों के लिए न्यायाधीश की ओर से 4 मार्च की तारीख अलग से निर्धारित की गई है।

No comments