गुलाबी पगड़ी और तिरंगी टोपी को लेकर हरियाणवी राजनीति में हडकंप

सिरसा(प्रैसवार्ता)। 19 अप्रैल को दिल्ली में होने वाली कांग्रेस रैली को लेकर हरियाणा के कांग्रेसी दिग्गजों में सियासी जंग शुरू हो गई है। मौजूदा पार्टी प्रधान अशोक तंवर अपने समर्थकों को तिरंगी टोपियां औढऩे का निर्देश दे रहे है, तो वहीं पूर्व मुख्यमंत्री  भूपेंद्र्र सिंह हुड्डा गुलाबी पगडिय़ा पहनने पर जोर लगा रहे है। तंवर और हुड्डा के बीच छत्तीस का आंकड़ा है। इस रैली को लेकर भीड़  जुटाने में हुड्डा का पलड़ा भारी होने के अंदेशा से डरे हुए अशोक तंवर ने सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमेद पटेल के निवास पर एक बैठक का आयोजन करवाया है। इस बैठक में तंवर समर्थकों का पहुंचना प्रभावी साबित हो सकता है, क्योंकि हुड्डा के ज्यादातर समर्थकों को इसकी सूचना नहीं दी गई है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली से सटे हरियाणा के सोनीपत, झज्जर, रोहतक में हु्ड्डा का काफी प्रभाव है, जिसके चलते रैली में गुलाबी पगड़ी वालों का आंकडा बढऩे की संभावनाएं है, जबकि तंवर का सिरसा संसदीय क्षेत्र में कुछ प्रभाव जरूर देखा जा सकता है, मगर वह भीड़ नहीं जुटा पाएंगे, क्योंकि दिल्ली सिरसा ेसे तीन सौ किलोमीटर की दूरी पर है। तंवर और हुड्डा की आंख मिचौली हिचकौले खा रही हरियाणा कांग्रेस को किस मोड पर ले जाएगी, को लेकर कांग्रेसीजन उलझन में है।  देखना तो यह होगा कि कांग्रेस की इस भीड़ में गुलाबी पगड़ी ज्यादा नजर आएगी या तिरंगी टोपी।

No comments