गुलाबी पगड़ी ने दिया तिरंगी टोपी को झटका

सिरसा(प्रैसवार्ता)। इनैलो के गढ़ तथा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर संसदीय क्षेत्र से गुलाबी पगड़ी ने दिल्ली रैली में उपस्थिति दर्ज करवाकर बाजी मार ली है, जबकि तिरंगी टोपी बुरी तरह से पिछड़ गई है। नौ विधानसभा क्षेत्रों वाले सिरसा संसदीय क्षेत्र के आठ क्षेत्रों पर इनैलो का कब्जा है, जिस पर एक भाजपा ने विजयी परचम लहराया है। कांग्रेस को इस संसदीय क्षेत्र में मतदाताओं द्वारा नकार दिया गया था। दिल्ली रैली में इस संसदीय क्षेत्र से सैंकड़ों वाहनों का काफिला पहुंचा, जिसमें गुलाबी पगड़ी वालों की संख्या तीन-चौथाई से भी ज्यादा आंकी गई है। हरियाणवी राजनीति में हुड्डा-तंवर के इस फाइनल में हुड्डा समर्थक (गुलाबी पगड़ी) तिरंगी टोपी पर भारी पड़े है, हालांकि यह तंवर का संसदीय क्षेत्र है और वह पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष भी है। हरी पगड़ी वाले इस संसदीय क्षेत्र में गुलाबी पगड़ी की सेंध से हुड्डा कांग्रेस का हौंसला तथा हुड्डा समर्थक होशियारी लाल शर्मा, डॉ. केवी सिंह, प्रहलाद सिंह गिल्लाखेड़ा, जरनैल सिंह और परमवीर सिंह के राजनीतिक कद का इजाफा हुआ है। इनैलो के गढ़ में हुड्डा कांग्रेस की दस्तक ने इनैलो में बैचेनी पैदा कर दी है, वहीं तंवर का आईना दिखा दिया है कि मतदाताओं पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और उनके समर्थकों की प्रभावी पहचान है। दिल्ली रैली के लिए तंवर को हुड्डा समर्थक गुलाबी पगड़ी वालों ने राजनीतिक झटके देकर उनके भविष्य पर प्र्रश्र चिन्ह लगा दिया है और उनकी प्रदेशाध्यक्ष की कुर्सी पर खतरे के बादल मंडराने लगे है।

No comments