सौंदर्य निखारने की बजाये सुंदरता बिगाड़ रहे है ब्यूटी पार्लर

सिरसा(प्रैसवार्ता)। जिलेभर में गली मोहल्लों में बगैर किसी प्रशिक्षण के सौंदर्य विशेषज्ञ बनी ज्यादातर महिलाएं ब्यूटी पार्लर खोल कर ब्यूटी बनाने के स्थान पर ब्यूटी बिगाड़ रहे है। ब्यूटी पार्लरों के वर्तमान ढंग स्वास्थय संबंधी हरियाणा सरकार की स्वीकृति के बिना या फिर किसी ब्यूटी पार्लर में कुछ समय हेयर कटिंग, थैडिंग और ब्लीचिंग जैसे छोटे छोटे काम सीखकर हर महिला स्वयं को सौंदर्य विशेषज्ञ समझकर ब्यूटी पार्लर खोल रही है। ब्यूटी पार्लर में की जाने वाली अधिकतर महिलाएं अस्थाई रूप में अपने चेहरे पर चमक लाने में तो जरूर सफल हो जाती है, परंतु यह चमक शरीर के लिए काफी क्षतिदायक होती है। सस्ते और नकली वस्तुओं के प्रयोग के चलते महिलाओं में चर्म रोग बढ़ रहे है। विदेशों में ब्यूटी पार्लर स्वास्थ्य मंत्रालय के आधीन है और स्वास्थ्य मंत्रालय से स्वीकृत किसी प्रशिक्षण केंंद्र से निर्धारित समय तक प्रशिक्षण देने  वालों को ही ब्यूटी पार्लर खोलने की स्वीकृति मिलती है, जबकि भारत वर्ष में ऐसी कोई योजना नहीं है। जिले में महिलाओं की तर्ज पर पुरूषों के लिए भी ब्यूटी पार्लर खुलने लगे है, जहां मसाज, पैडीक्योर, ब्लीचिंग, फैशियल, हेयर डाई तथा स्कीन थरैपी भी की जाती है। डॉक्टरों के अनुसार हेयर डाई का प्रयोग कई बार क्षतिदायक भी हो जाता है, क्योंकि इस डाई में कई प्रकार के रसायन मिले होते है, जिसके प्रयोग से पूर्व टैस्ट कर लेना जरूरी होता है। इसी प्रकार ब्लीचिंग का ज्यादा प्रयोग भी चर्म के लिए नुकसानदायक होता है।

No comments