हुड्डा समर्थकों की हुटिंग बनी हुड्डा के गले की फांस

सिरसा(प्रैसवार्ता)। पूर्व मुख्यमंत्री हरियाणा भूपेंद्र सिंह हुड्डा की गुलाबी पगड़ी फौज की रामलीला मैदान में कांग्रेस प्रधान अशोक तंवर के भाषण के दौरान की गई हुटिंग हुड्डा के गले की फांस बन गई है, क्योंकि कांग्रेस आलाकमान ने इसे गंभीरता से लिया है।  कांग्रेस के अनुशासन समिति के अध्यक्ष ऐ के एंथनी इस मामले में कार्रवाई करने में सक्षम है, मगर हुड्डा पर कार्रवाई करना आसान नहीं दिखाई देता, क्योंकि हरियाणवी राजनीति में हुड्डा का प्रभाव बहुत ज्यादा है, जिसके चलते कांग्रेस आलाकमान कोई कार्रवाई करने के मूड में नहीं है, जबकि तंवर समर्थक दवाब बना रहे है कि हुड्डा के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए। दूसरी तरफ हूटिंग मुद्दा पर बढ़ रही सक्रियता पर हुड्डा ने हूटिंग मुद्दा को उचित न ठहरा कर मुद्दे पर घेराबंदी को रोकने का प्रयास किया है। हुड्डा ने हूटिंग को लेकर उन पर लगाए गए आरोपों को खारिज करते हुए स्पष्ट किया है कि उनका हूटिंग से कोई लेना देना नहीं है, जबकि तंवर समर्थक इसे हवा देकर हुड्डा के खिलाफ मुहिम छेड चुके है। तंवर समर्थक कैप्टन अजय यादव हूटिंग करने वालों पर कार्रवाई की वकालत कांग्रेस आलाकमान से कर चुके है। कांग्रेस आलाकमान गुलाबी पगड़ी और तिरंगी टोपी की जंग को समर्थकों को ड्रैस कोड देना मानते हुए गंभीर है और इसे अनुशासनात्मक दायरे में रख रहा है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इस हूटिंग पर पैनी नजर रखे हुए है, जिसको लेकर हुड्डा जरूर सकते में है, क्योंकि हूटिंग का ठीकरा उन पर फोड़ा जा रहा है। इस प्रकार हूटिंग हुड्डा के गले की फांस बनती नजर आ रही है।

1 comment: