पंजाब में दर्ज हुए मामले को लेकर डॉक्टर मोहर बोले : झूठा मामला है ये!

सिरसा(प्रैसवार्ता)। सिरसा के एक डॉक्टर मोहर सिंह के खिलाफ पंजाब के जिला मोगा के थाना अजीतवाल में धारा 406/506 के तहत मामला दर्ज किया गया है। यह मुकद्दमा ठेकेदार सुखविंद्र सिंह द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मोगा को दी शिकायत की जांच आर्थिक अपराध शाखा द्वारा किए जाने उपरांत दर्ज किया गया है। अपनी शिकायत में ठेकेदार सुखविंद्र सिंह ने आरोप कि उसने डॉ. मोहर सिंह के नए बन रहे अस्पताल के भवन निर्माण का ठेका लिया था। इस भवन निर्माण के दौरान डॉ. मोहर सिंह ने उसका काम बंद करवाकर उसकी 20 लाख की मशीनरी जब्त कर ली तथा 42 लाख की बकाया राशी मांगने पर उसे जाने से मारने की धमकी दी थी। इसी शिकायत के आधार पर मोगा के थाना अजीतवाल में डॉ. मोहर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।  मामले की जांच कर रहे इंस्पैक्टर रविंद्र ने बताया कि जांच उपरांत मामला दर्ज किया गया है और डॉ. मोहर को एक सप्ताह का समय दिया गया है, इसके बाद ही आगे का कार्रवाई की जाएगी।
ये बोले डॉक्टर साहब!
अजीतवाल थाना, मोगा में सुखविंद्र सिंह द्वारा दर्ज करवाए गए मामले के संबंध में डॉ. मोहर सिंह का कहना है कि मुझ पर सुखविंद्र सिंह ने मोगा में जो मामला दर्ज करवाया है, वो एक झूठा मामला है। सुखविंद्र सिंह, जो पुलिस के समक्ष यह कह रहे है कि मेरे अस्पताल का भवन निर्माण उसने करवाया है या करवा रहा है, वह सरासर गलत है। मेरे अस्पताल का भवन निर्माण मेरी देखरेख में मेरे इंजीनियर्स द्वारा करवाया जा रहा है और मेरे नाम से ही लेबर डिपार्टमैंट 30 बेस बिल्डिंग सैक्टर 17 हरियाणा में रजिस्टर्ड है। इसकी सरकारी फीस भी बकायदा जमा करवाई हुई है। मेरी सुखविंद्र सिंह से केवल आरएमसी मैट्रीयल डील हुई थी, जिसके लिए मैंने सुखविंद्र सिंह को 25 लाख रूपए दिए थे और उसकी कीमत केवल 17 से 18 लाख रूपए थी। इस लिहाज से सुखविंद्र ने मेरे साथ 7 से 8 लाख रूपए की ठगी की है।

No comments