ओला कैब चालक ने दी घर आकर देख लेने की धमकी, मामला दर्ज

अजमेर(प्रैसवार्ता)। आशा गंज निवासी सुमित कलसी को ओला कैब का सफर उस वक्त महंगा पड़ गया, जब उन्होंने सुबह तड़के ओला कैब बुक की और देरी होने की वजह से कैब को कैंसिल कर दिया। ओला कैब ड्राइवर युसूफ खान को ये नागवार गुजऱा और तुरंत पीडि़त सुमित कलसी को फ़ोन करके बद्दी-बद्दी गालिया निकलना शुरू कर दिया। कलसी ने इसकी शिकायत ओला कंपनी को की, ड्राइवर का लाइसेंस कैंसिल करने के बजाये कंपनी ने ड्राइवर युसूफ खान पर 500 रुपए का जुर्माना कर इतिश्री कर ली, जिससे युसूफ खान जी और भड़क गए और फ़ोन पर देख लेने की धमकी दे डाली। जानकारी के अनुसार आशा गंज निवासी सुमित कलसी ने बीती 17 मई सुबह करीब साढ़े सात बजे ओला कैब बुक की, जिसका पिकउप टाइम 5 मिनट का था, काफी समय बीत जाने के बाद भी जब ओला नहीं आई तो पीडि़त सामने से गुजऱ रही टैक्सी में बैठ गया और ओला कैब कैंसिल कर दी जिसके बाद ड्राइवर युसूफ खान का फ़ोन आया कि कैब कैंसिल करने का कारण पूछा, जिस पर पीडि़त ने लेट होने का हवाला दिया और ज़रूरी काम जाने की बात कही। बस फिर क्या था युसूफ खान जी गली गलौज करके कहते है कि इतने रईस हो तो अपनी कि गाड़ी ले लो। पीडि़त ने फ़ोन काट दिया और तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर ड्राइवर की शिकायत की और घर आने के बाद ऑफिसियल मेल भी किया जिसके बाद कंपनी द्वारा ड्राइवर पर 500 रु का फाइन कर दिया, जबकि फ़ोन पर कंपनी द्वारा कहा गया था कि वो जल्द ही ड्राइवर युसूफ खान का लाइसेंस कैंसिल कर देगी।
ऐसे लिया घर का पता
ड्राइवर युसूफ खान ने पीडि़त को फ़ोन करके कहा कि वो आशा गंज उनका पार्सल लेकर खड़ा है घर का पता क्या है, जिस पर पीडि़त ने उसे अपने घर का पता और लोकेशन बता दी, जिसके बाद फ़ोन पर ही 2 घंटे बाद घर पर आ कर देख लेनी कि धमकी दे डाली, जिसमे उसने पहाड़ गंज के कुछ बदमाशो के नाम भी लिए है जिसके साथ वो घर पर आने वाला था।
दर्ज करवाया मुकदमा
घर पर किसी तरह से कोई अनहोनी ना हो इसलिए पीडि़त ने तुरंत क्लॉक टावर थाना अधिकारी को इस बाबत जानकारी दी और लिखित मै शिकायत भी की है. जिस पर क्लॉक टावर थाना अधिकारी रमेन्दर सिंह ने मुकदमा दर्ज कर जांच एएसआई कैसर सिंह को सौप दी है। पीडि़त ने कहा है कि अगर इस बीच उनके या उनके घर के किसी भी सदस्य के साथ कुछ अनहोनी होती है तो उसकी समस्त जि़म्मेदारी ओला कंपनी और ड्राइवर युसूफ खान की होगी। पुलिस जांच में जुटी है खबर लिखे जाने तक युसूफ खान को तलाश नहीं किया गया था।

No comments