घर में कर सकते है दूध में मिलावट की पहचान

सिरसा(प्रैसवार्ता)। खाने-पीने की चीजों में मिलावट आम बात हो गई है। दूध, घी, चाय, कॉफी से लेकर मसालों तक में मिलावट हो रही है, जो हमारे स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। मिलावट का पता लगाने के लिए नमूनों को प्रयोगशाला भेजना और उनकी रिपोर्ट हासिल करना तो लंबा प्रोसेस है, लेकिन कुछ पदार्थों की जांच घरेलू तरीके अपनाकर भी कर सकते है। जैसे हम दूध की मिलावट की बात करें तो....
दूध में मिलावट पहचानने के तरीके
डिटर्जेंंट की मिलावट: अगर दूध में डिटर्जेंंट की मिलावट की जांच करनी हो, तो नमूने के तौर पर 10 मिलीलीटर दूध और पानी लें। अगर दूध में झाग आ जाए तो समझ लीजिए कि उसमें डिटर्जेंंट की मिलावट है।
सिंथेटिक मिल्क की पहचान: सिंथेटिक मिल्क की पहचान ये है कि उसका टेस्ट कड़वा होगा, जब आप उसे उंगलियों के बीच रगड़ेंगे, तो साबुन जैसा महसूस होगा और जब गर्म करेंगे, तो दूध का रंग पीला हो जाएगा।
यूरिया की मिलावट: ज्यादातर दूधिये यूरिया मिलाकर दूध बेच जाते है। अगर दूध में यूटेज इन्जाइम मिल्क 5-6 बूंद पोटोशियम कार्बेनाइट डाले, अगर दूध का रंग रेडिस येलो हो जाता है, तो समझ लीजिए कि यूरिया मिला हुआ है।
स्टार्च की मिलावट: दूध में 5-6 बूंदे आयोडीन डालने से यदि दूध का रंग नीला हो जाता है, तो समझ लें कि दूध में स्टार्च मिला हुआ है। 

No comments