शहर में चर्चा: सिटी थाना के बाहर भूख बैठे है पत्रकार, मगरमच्छ है आजाद, काले झंडों से होगा सीएम का स्वागत

सिरसा(प्रैसवार्ता)। नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी को लेकर शुरू की गई क्रमिक भूख हड़ताल सोमवार को चौथे दिन भी जारी रही। चौथे दिन सूचना का अधिकार जागृति मंच के अध्यक्ष सुरेंद्र सरदाना एडवोकेट, एंटी क्रप्शन क्लब ऐलनाबाद के अध्यक्ष जरनैल सिंह बराड़ एडवोकेट, एंटी क्रप्शन क्लब तलवाड़ा खुर्द के अध्यक्ष भीम सैन साईं, भगवान वाल्मीकि चेरीटेबल ट्रस्ट सिरसा के प्रधान जुगनू राम नंबरदार, पत्रकार इंद्रजीत अधिकारी व पत्रकार अंजनी गोयल भूख हड़ताल पर बैठे। भूख हड़ताल का नेतृत्व कर रहे पत्रकार इंद्रजीत अधिकारी ने बताया कि जब तक भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती, तब तक यह भूख हड़ताल जारी रहेगी।  
शहर में रही चर्चा
इस भूख हड़ताल को लेकर शहर में एक बार फिर चर्चा रही। चर्चा यह रही कि आखिकार पुलिस के हाथ मगरमच्छ तक क्यों नहीं पहुंच पा रहे। हालांकि पुलिस उसे गिरफ्तार करना चाहती है, मगर गिरफ्तार होगी कब? चर्चा तो यह भी है कि जब किसी गरीब व्यक्ति पर मामला दर्ज होता है, तो पुलिस उसे तुरंत गिरफ्तार कर सलाखों की पीछे ड़ाल देती है, लेकिन यहां बात एक अमीर शख्स की है। ऐसे व्यक्ति की है, जिसके पास पैसे के साथ साथ शोहरत भी है। इसलिए पुलिस को इन्हें गिरफ्तार करने में ज्यादा समय लग रहा है। चर्चा तो यह भी रही कि पत्रकार कड़कर्ती गर्मी में भूूख हड़ताल पर बैठे है, कल तो बारिश में भी भूख हड़ताल पर बैठे थे, किसी की तबियत बिगड़ गई तो जिम्मेवार कौन होगा?
काले झंडों से किरकिरी हो जाएगी पुलिस की
कांग्रेस के प्रांतीय प्रवक्ता ने  ऐलान किया है कि अगर नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारी गिरफ्तार न हुए, तो सीएम को काले झंडे दिखाए जाएंगे। ऐसे में पुलिस प्रशासन का सीएम के सामने किरकिरी होना तय है, क्योंकि मगरमच्छ इतनी जल्दी हाथ में आने वाला लग नहीं रहा और सीएम साहब 19 को सिरसा में आ रहे है। अगर 19 जून से पूर्व नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी न हुई, तो यकीनन सीएम के सामने पुलिस प्रशासन की किरकिरी होना तय माना जा रहा है।
भ्रष्ट अधिकारियों के साथ सुरेश कुक्कू भी हो गिरफ्तार
धरनारत लोगों को संबोधित करते हुए भगवान वाल्मीकि चेरिटेबल ट्रस्ट के प्रधान जुगनू राम नंबरदार ने कहा कि नगर परिषद से भ्रष्टाचार मिटाना होगा। नगर परिषद में भ्रष्टाचार की वजह से सभी शहरवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि फर्जी गली निर्माण मामले में नगर परिषद के प्रधान सुरेश कुक्कू को अविलंब गिरफ्तार करना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधान सुरेश कुक्कू ने भ्रष्ट तरीकों से अकूत संपति जुटाई है। उन्होंने कई नामी और बेनामी संपति खरीदी है। नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों के साथ प्रधान सुरेश कुक्कू को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। वाल्मीकि समाज ने नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों को बचाने की कोशिशों को षड्यंत्र बताया। उन्होंने कहा कि नगर परिषद के कुछ भ्रष्ट लोग निर्दोष व अंजान कर्मचारियों को बहलाफुसला रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधान सुरेश कुक्कू को बचाने की कोशिशों पर उन्होंने चोट करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी समाज का भला नहीं किया। भगवान वाल्मीकि के नाम पर चौक व पार्क व जिम के निर्माण में धांधली की गई। उन्होंने अल्प समय में भ्रष्टाचार करके करोड़ों रुपये की संपति जुटाई है। वाल्मीकि समाज ने इस बात पर रोष जताया कि भ्रष्टाचार के इस मामले को जाति-पाति से जोड़ा जा रहा है। प्रधान जुगनू राम नंबरदार ने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में पुलिस को बिना किसी दबाव में काम करना चाहिए। फर्जी गली निर्माण के मामले में आरोपी प्रधान सुरेश कुक्कू को गिरफ्तार करना चाहिए। 
भ्रष्टाचार ने समाज को किया खोखला
एंटी क्रप्शन क्लब के प्रधान जरनैल सिंह बराड़ एडवोकेट ने कहा कि भ्रष्टाचार ने हमारे समाज को खोखला कर दिया है। भ्रष्टाचार को जब तक खत्म नहीं किया जाता तब तक देश व समाज की उन्नति नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ इस लड़ाई में एंटी क्रप्शन क्लब कंधे से कंधा मिलाकर पत्रकारों के साथ है। बराड़ ने कहा कि यदि नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी नहीं की जाती तो वे अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर भी बैठने को तैयार हैं। 
आरोपियों की गिरफ्तारी न होना शर्मनाक
सूचना का अधिकार जागृति मंच के अध्यक्ष सुरेंद्र सरदाना एडवोकेट ने कहा कि फर्जी गली निर्माण के मामले में सारे तथ्य सामने आ चुके हैं। लगभग एक माह बीतने के बावजूद भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी न किया जाना शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को भ्रष्टाचार के खिलाफ धरने पर बैठना पड़े इससे शर्मशार बात पुलिस व प्रशासन के लिए क्या हो सकती है? 
गिरफ्तारी को लेकर ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है पुलिस
गली ब्रह्माकुमारी आश्रम वाली के फर्जी निर्माण मामले में दर्ज एफआईआर के तहत आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस की ताबड़तोड़ छापामारी जारी है। पुलिस की आधा दर्जन टीमें भ्रष्ट अधिकारियों व प्रधान की गिरफ्तारी के लिए छापामारी कर रही है। सूत्र बताते हैं कि तत्कालीन ईओ बीएन भारती की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस की दो टीमें उनके पैतृक गांव चांग जिला भिवानी तथा उनके कार्यस्थल नारनौल रवाना हुई। पुलिस टीम पहले भी ईओ भारती की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर चुकी है। लेकिन भारती फरार हैं। उनके मोबाइल से उनकी लोकेशन तलाश रही है। फर्जी गली निर्माण करने वाले ठेकेदार उमेश गुप्ता भी फरार हैं। पुलिस पार्टी ठेकेदार उमेश गुप्ता को काबू करने के लिए उनकी तलाश कर रही है। ठेकेदार उमेश गुप्ता शहर से गायब बताए जाते हैं। इसी प्रकार फर्जी गली निर्माण मामले में आरोपी नगर परिषद के प्रधान सुरेश कुक्कू भी फरार बताए जाते हैं। गली ब्रह्माकुमारी आश्रम की फर्जी मानिटरिंग करने वाले पंचायतीराज विभाग के कार्यकारी अभियंता धर्मवीर दहिया की धरपकड़ के लिए पुलिस की धरपकड़ जारी है। दहिया भी पुलिस को छापामारी में नहीं मिले। फर्जी मानिटरिंग करने वाले धर्मवीर दहिया को लेकर अदालत में तलख टिप्पणी भी की थी। पुलिस अधिकारियों को एक्सईएन धर्मवीर दहिया को गिरफ्तार करने के लिए कहा था। भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर चल रहे क्रमिक अनशन और धरने की वजह से पुलिस सभी भ्रष्ट अधिकारियों की धरपकड़ के लिए भागदौड़ कर रही है। सूत्र बताते हैं कि शीघ्र ही भ्रष्ट अधिकारियों की गर्दन तक पुलिस के हाथ पहुंच जाएंगे।

No comments