आस्था अस्पताल में स्वास्थय विभाग की छापेमारी, अल्ट्रासाउंड सेंटर सील

सिरसा(प्रैसवार्ता)। डबवाली रोड़ स्थित आस्था अस्पताल में स्वास्थय विभाग के अधिकारियों ने छापेमारी की। करीब 4 घंटे तक चली इस कार्रवाई में अस्पताल के अल्ट्रासाउंड सेंटर को सील कर दिया गया है। इसके साथ सेंटर का रिकॉर्ड भी कब्जे में ले लिया गया है। स्वास्थय विभाग अब अल्ट्रासाउंंड मशीन की जांच करवाएगा।
         बताया जा रहा है कि अस्पताल की शिकायत मिली थी, जिसके आधार पर उपायुक्त निखिल गजराज के निर्देशानुसार सिविल सर्जन डॉ. एस के नैन ने डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. विरेश भूषण, डॉ. रोहताश, डॉ. राजेश चौधरी, डॉ. कविता सहारण व लीगल एडवाइजर विक्रम यादव पर आधारित टीम को छापेमारी के निर्देश दिए। टीम ने आस्था अस्पताल में छापेमारी कर अल्ट्रासाउंड को सील कर दिया। इसके साथ ही वहां के रिकॉर्ड को जब्त कर लिया।

जांच में करेंगे सहयोग
आस्था अस्पताल के संचालक व डॉ. रजनीश नरूला का कहना है कि स्टॉफ सदस्यों की मिलीभगत के कारण अस्पताल की बदनामी हुई है। हमारे अल्ट्रासाउंड सेंटर पर ऐसा कुछ नहीं किया गया है। अस्पताल का पूरा रिकॉर्ड सही है। रात को की गई छापेमारी में सेंटर को सील किया गया है। वे भी इस जांच में स्वास्थय विभाग के अधिकारियों को सहयोग करेंगेे। डॉ. नरूला ने यह भी कहा कि जैसे ही लिंग जांच प्रकरण में अस्पताल में काम करने वाले एक सदस्य का नाम आया, तो उसे तुरंत प्रभाव से निकाल दिया गया है।

ये कहना है सीएमओ एसके नैन का
इस संबंध में सीएमओ एसके नैन का कहना है कि विभाग की टीम ने आस्था अस्पताल के अल्ट्रासाउंड सेंटर को सील कर दिया है। अस्पताल के खिलाफ शिकायत आई थी, जिसके बाद छापेमारी की गई। अब अल्ट्रासाउंड मशीन की जांच की जाएगी, कहीं इस मशीन से लिंग जांच तो नहीं हुई।

No comments