सिरसा, जहां कम हो रहे है कार्यकर्ता और बढ़ रहे है नेता

सिरसा(प्रैसवार्ता)। हरियाणा के प्रमुख विपक्षी दल इनैलो के गढ़ सिरसा जिला में लगभग सभी राजनीतिक दलों में कार्यकर्ताओं की संख्या कम तथा नेताओं की बढ़ रही है। सिरसा संसदीय क्षेत्र तथा जिले के पांच विधानसभाई क्षेत्रों पर इनैलो का कब्जा है। राज्य में भाजपा की सरकार है, जिसके चलते भाजपाई सरकार कुकरमत्तों की तरह बाहर निकल आए है। दिलचस्प तथ्य यह है कि इनमें से ज्यादातर तो भाजपा के प्राथमिक सदस्य तक नहीं है। भाजपा के जिलाध्यक्ष अमीर चंद मेहता जिला मुख्यालय से करीब पचास किलोमीटर दूर ग्राम तलवाड़ा (ऐलनाबाद) में रहते है और उन्होंने वर्ष 2009 में ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र से बतौर भाजपा प्रत्याशी चुनाव लड़कर 3617 वोट हासिल किए थे। सिरसा शहर में भाजपा नेताओं की बाढ़ आई हुई है, जबकि पुराने, निष्ठावान भाजपाई कोप भवन में कहे जा सकते है। भाजपा का सदस्यता अभियान, महासंपर्क अभियान, स्वच्छता अभियान, बेटी बचाओ-बेेटी पढ़ाओ या फिर योग कार्यक्रम जिलाभर में फिसड्डी रहा है। अपनी अनदेखी और सुनवाई न होने के चलते पब्लिक से दूरी बनाए रहने को ही भाजपाई दिग्गज प्राथमिकता दे रहे है, जबकि कुछ दिग्गज आईसीयू में चले गए है, जिनसे मिलना आसान नहीं कहा जा सकता।

No comments