कांडा की मुख्यमंत्री से मुलाकात से बढ़ी राजनीतिक सरगर्मियां

सिरसा(प्रैसवार्ता)। स्थानीय पूर्व विधायक एवं पूर्व गृह राज्यमंत्री गोपाल कांडा हलोपा सुप्रीमों की मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर से हुई मुलाकात से हरियाणवी राजनीति में हडकंप मच गया है और इसी के साथ यह क्यास लगाए जाने लगे है कि हलोपा भगवे झंडे से तालमेल कर सकती है। प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार कांडा बेटी बचाओ अभियान को लेकर एक फिल्म बनाने को लेकर खट्टर से मिले थे, मगर इस मुलाकात ने इनैलो के गढ़ कहे जाने वाले सिरसा की राजनीति का गर्मा दिया है। सिरसा संसदीय क्षेत्र तथा जिले के सभी पांच विधानसभा क्षेत्रों पर इनैलो का कब्जा है। कांडा ने पिछला विधानसभा चुनाव सिरसा तथा उनके अनुज गोबिंद कांडा ने रानियां क्षेत्र से लड़कर करारी टक्कर दी थी, मगर दोनो ही जीत नहीं पाए थे। कांडा प्रदेश भर में 73 विधानसभाई क्षेत्रों में हलोपा के बैनर तले प्रत्याशी उतारे थे, मगर सभी लुढ़क गए थे। हरियाणा में भाजपा की सरकार बनने उपरांत कांडा कोप भवन में चले गए थे, मगर कोप भवन से अचानक बाहर आते ही राजनीतिक हलचल मचा दी। कांडा की अपनी पिताश्री स्व. मुरलीधर कांडा की याद में आरएसएस का गुणगान, खट्टर सरकार से सद्भावना भेंट से राजसी दिग्गज अचम्बे में है, क्योंकि कांडा किसी भी समय कोई भी करिश्मा दिखाने में सक्षम माने जाते है। गोपाल कांडा की राजनीतिक सक्रियता से उनके समर्थकों को संजीवनी मिल गई है और वह भी कोप भवन से बाहर निकलने शुरू हो गए है।

No comments