कांग्रेस की सम्मान रैली: हुड्डा सह-सयोंजक कांग्रेस मजबूूरी

सिरसा(प्रैसवार्ता)। हरियाणा में आपसी कलह के चलते हिचकौले खा रही कांग्रेसी नाव को हिचकोलों से बचाने के लिए कांग्रेस हाईकमान ने 20 सितंबर को दिल्ली में हो रही कांग्रेस की सम्मान रैली में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को सह-संयोजक बनाकर एक तीर से दो निशाने किए है। कांग्रेस ने हरियाणा कांग्रेस की प्रांतीय कार्यकारिणी में मौजूूदा प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर को तव्वजों देकर हुड्डा को राजनीतिक झटका दिया था और अब हुड्डा को रैली के लिए सह-संयोजक बनाया गया है, क्योंकि हुड्डा के पास दिल्ली से सटी रोहतक, सोनीपत व झज्जर की जाट बैल्ट है, जो 19 अप्रैल को दिल्ली में हुई कांग्रेस रैली में गुलाबी पगड़ी, गुलाबी दुपट्टा में रूप में दर्शाई जा चुकी है। दिल्ली से सटी इस जाट बैल्ट से कांग्रेस के 15 में से 10 विधायक है, जिन्हें हुड्डा का प्रबल समर्थक कहा जा सकता है। कांग्रेसी युवराज राहुल गांधी के सम्मान में होने वाली 20 सितंबर की रैली में ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने के लिए हुड्डा सेना सक्रिय हो गई है, ताकि राहुल गांधी को दिखाया जा सके कि उनके करीबी अशोक तंवर से कहीं ज्यादा जनाधार वह रखते है। हुड्डा समर्थक इस बार भी गुलाबी पगड़ी व गुलाबी दुपट्टों में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाएंगे, जिसकी तैयारी जोरो पर देखी जाने लगी है। कांग्रेस हाईकमान की सोच भीड़ जुटाने तक की है, तो हुड्डा की सोच राहुल गांधी को अपनी शक्ति दिखाने की है। हुड्डा के  सह-संयोजक बनाने के पीछे कांग्रेस की मजबूरी है। कांग्रेस भीड़ जुटाने के साथ साथ हुड्डा को भी थपकी दे रही है, कि वह कहीं कांग्रेस से अलविदाई लेकर गुलाबी कांग्रेस का गठन न कर लें, जिसके लिए हुड्डा समर्थकों का बराबर दवाब बना हुआ है। इधर हुड्डा हर कदम फूंक फूंक कर रख रहे है, क्योंकि वह जानते है कि गुलाबी कांग्रेस का गठन कहीं हजकां, हविपा जैसा न हो जाए।

No comments