अब डरने की जरूरत नहीं महिला पुलिस आपके साथ: महिला थाना प्रभारी सीमा

सिरसा(प्रैसवार्ता)। छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करने वाले मनचलों की अब खैर नहीं होगी। छात्राओं को आत्मनिर्भर व जागरूक बनाने के लिए महिला पुलिस ने कॉलेज व स्कूलों में जाकर छात्राओं को अन्याय बर्दाश्त न करने व आत्मरक्षा के के तौर तरीके सीखाने शुरू कर दिए हैं।   ताकि छात्राओं के हौंसले देखकर समाज की दूसरी महिलाएं भी उनसे सबक लें। छात्राओं की सुरक्षा के लिए जागरूकता शिविर  की शुरूआत  बुधवार को सीएमके कॉलेज से हो गई है। यहां कि  छात्राओं को संबोधित करते हुए महिला थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर सीमा सोढ़ी ने कहा कि  छात्राएं अपने मन में हौसला व जज्बा पैदा करें, वे एकत्रित होकर स्कूल-कॉलेज जाएं और यदि रास्ते में कोई मनचला किसी प्रकार की हरकत करे तो उसका विरोध करें। घर जाकर इस बाबत परिजनों, स्कूल व पुलिस को बताएं। सभी छात्राएं पुलिस का मोबाइल नंबर अपने पास रखें, ताकि सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचे और मनचलों को घटनास्थल पर ही सजा दी जाएं। छात्राएं जागरूक होंगी तभी ऐसी घटनाओं को रोका जा सकता है। उन्होने छात्राओं को कहा कि शिक्षा ही सफलता का सबसे बड़ी पूंजी है। थाना प्रभारी ने छात्राओं से कहा कि जब भी उन्हें लगे किसी प्रकार की समस्या उन्हें आ रही है। वे महिला हैल्पलाइन नबंर 1091 या 100 नबंर पर कॉल करें। इसके अलावा कोई शिकायत देनी है तो एफ ब्लॉक में महिला थाना उनके लिए 24 घंटे खुला है। 
अब डरने की जरूरत नहीं महिला पुलिस आपके साथ है
थाना प्रभारी सीमा सोढ़ी ने कॉलेज की छात्राओं से कहा कि उन्हें किसी भी असमाजिक तत्व से डरने की जरूरत नहीं है। शहर में महिला थाना खुल चुका है। इसलिए उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी अब महिला पुलिस की है। पुलिस आपके साथ है। कॉलेज लगने व छूट्?टी के समय पुलिस की पीसीआर व राइडर आपके आस पास रहेगी। वहीं वे खुद भी मौके पर आकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेती रहेंगी। इसलिए बिना भय के छात्राएं शिक्षा ग्रहण करें।

No comments