एमसी कॉलोनी में होता है देह व्यापार, विरोध किया तो झूठा मामला दर्ज करवाया दिया

सिरसा(प्रैसवार्ता)। मोहल्ले में तेजी पकड़ रहे देह व्यापार को रोकने का प्रयास करने वाले एक मां और उसके दो बेटों को महंगा पड़ा है और देह व्यापार करने तथा समर्थन देने वालों ने मां और दोनो बेटों पर झूठा मामला दर्ज करवा दिया है। यह बात एमसी कॉलोनी निवासी संदीप, उसका भाई निखिल व उनकी माता जितो देवी ने मोहल्ला निवासियों के साथ एक निजी होटल में पत्रकारों से रूबरू होते हुए कही। इन सभी ने पत्रकारवार्ता में एमसी कॉलोनी की ही एक महिला मीनू पर देह व्यापार का आरोप लगाते हुए कहा कि महिला मीनू उनके मोहल्ले में किराए के मकान में रहती है, जहां पड़ोसी सतीश कंबोज, मकान मालकिन कमलेश व कुछ पुलिस कर्मियों की शह पर देह व्यापार का धंधा किया जाता है। इस देह व्यापार को कई पुलिस कर्मियों का खुला समर्थन है। उक्तजनों ने कहा कि पुलिस कर्मियों द्वारा उन्हें घर पर टार्चर किया जाता है। उक्तजनों ने कहा कि देह व्यापार को बंद करवाने के लिए उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक तक गुहार लगाई जा चुकी है, मगर देह व्यापार में संलिप्त पुलिस कर्मियों की बदौलत कोई कार्रवाई नहीं हुई, बल्कि देह व्यापार के खिलाफ आवाज उठाने वालों को ही झूठे मामले में फंसाया गया है।  पत्रकार वार्ता में उक्तजनों द्वारा पत्रकारों को वीडिय़ों दिखाकर सत्यता से वाकिफ करवाया गया और उन पर लगाए गए सभी आरोपों को झूठ का पुलिंदा बताया गया और इस मामले की किसी भी निष्पक्ष व स्वतंत्र एजेंसी से जांच करवाने की मांग की। मोहल्ला निवासियों ने कहा कि अगर इस मामले की निष्पक्ष जांच न हुई, तो उन्हें मजबूरन आंदोलन की राह पकडऩी होगी।

No comments