जुमला साबित हुई भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने की बात : बांसल

सिरसा(प्रैसवार्ता)। गलियों व सड़कों के निर्माण में धांधली करने वाले नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर 55वें दिन भी क्रमिक अनशन व धरना दिया गया। बुधवार को पत्रकार इंद्रजीत अधिकारी, पत्रकार अंजनी गोयल, पत्रकार राजेश सतीजा, पत्रकार सोनिया इंसां व पत्रकार आकाश चाचान अनशन पर रहे।  धरनारत लोगों को संबोधित करते हुए एंटी क्रप्शन एंड क्राइम सोसायटी के प्रधान यशपाल बांसल ने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने की बात कहना अलग बात है और उस पर अमल करना दूसरी बात। सिरसा नगर परिषद के घपलों पर सरकार की नीति एक जुमला साबित हुई है। उन्होंने कहा कि स्टेट विजिलेंस अपनी मैराथन जांच के बाद जिन अधिकारियों को लाखों रुपये के घपले-घोटाले का दोषी करार दे चुकी है, जिनके खिलाफ एक माह पूर्व मामला दर्ज किया जा चुका है। उन्हें गिरफ्तार करने में सरकार हिचकिचा रही है। बांसल ने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने के लिए मुख्यमंत्री को अपनी पहली कलम से ही भ्रष्टाचारियों को सलाखों के पीछे भेजना चाहिए था। सिरसा में थाना शहर के समक्ष पिछले 55 दिनों से धरना दिया जाना सरकार के दावों की पोल खोल रहा है। 

No comments