दशहरा पर होगा डीजीपी विजीलेंस के पुतले का दहन

सिरसा(प्रैसवार्ता)। दशहरा पर्व का लोगों में विशेष महत्व है और इस दिन डीजीपी विजीलेंस का पूतला शहर के लोग फूंकने जा रहे है। खबर की पुष्टि करते हुए पत्रकार अंजनी गोयल ने बताया कि बेशर्मी की हद होती है। नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी मांगना कोई गुनाह है, जो पुलिस ने उन्हें नोटिस भेजा था। ईमानदारी से लोगों को बिना परेशान किए शहर थाना के बाहर धरना दिया जा रहा है और नगर परिषद के भ्र्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी को लेकर दिए जा रहे इस धरने को 95 दिन हो चुके है। इसी के चलते अब यह निर्णय लिया गया है कि 21 अक्टूबर तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की जाती तो डीजीपी विजिलेंस का पुतला फूंका जाएगा। दशहरा पर्व पर विभिन्न संगठनों के साथ पुतला दहन होगा जिसमें हजारों की संख्या में व्यापारी, कर्मचारी, छात्र व विभिन्न संगठनों के लोग शामिल होंगे। 29 जुलाई 2015 को स्टेट विजिलेंस ने नगर परिषद सिरसा के अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। 75 दिन बाद एक भी आरोपी की गिरफ्तारी न होने के चलते इस आशय का फैसला लिया है। भ्रष्टाचार के खिलाफ धरना देने वालों ने वीरवार को डीएसपी विजिलेंस और सोमवार को एसपी विजिलेंस का पहले ही पुतला फूंका है। 60 दिन से अधिक समय बीतने पर मामले के जांच अधिकारी व डीएसपी आत्माराम लांबा द्वारा आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई न किए जाने से लोगों में रोष व्याप्त है। यदि राज्य चौकसी ब्यूरो हरियाणा के महानिदेशक द्वारा डीएसपी आत्माराम लांबा को जांच से नहीं हटाया जाता और नामजद आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता तो दशहरे के दिन 22 अक्टूबर को डीजीपी का पुतला फूंका जाएगा। 

No comments