हुड्डा आगमन पर दूर-दूर नजर आए कांग्रेसी दिग्गज

सिरसा(प्रैसवार्ता)। पूर्व मुख्यमंत्री हरियाणा भूपेंद्र सिंह हुड्डा का सिरसा जिला में दो दिवसीय कार्यक्रम पूर्णयता विफल रहा, क्योंकि जिस उद्देश्य को लेकर हुड्डा ने इनैलो के गढ़ तथा कांग्रेस के मौजूदा प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर के संसदीय क्षेत्र में सेंधमारी का स्वपन संजोया था, चूर-चूर हो गया। हुड्डा के इस दौरे के दौरान कांग्रेसी दिग्गजों ने दूरी बनाई रखी, जबकि कांग्रेस प्रत्याशियों का विधानसभा चुनाव में विरोध करने वाले जरूर देखे गए। हुड्डा का ऐसे राजसी दिग्गजों का आतिथ्य स्वीकार करना संकेत देता है कि उन्होंने हुड्डा के इशारे पर ही कांग्रेस उम्मीदवारों का विरोध करके कांग्रेस लुटिया  डुबाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। प्रदेश में कांग्रेस की  दुर्गति के लिए कांग्रेस आलाकमान पहले ही हुड्डा से खफा है। आलाकमान की नाराजगी को दूर करने के लिए हुड्डा ने कई बार शक्ति प्रदर्शन करके प्रयास भी किए, मगर सफलता नहीं मिली और इसी के साथ हुड्डा समर्थकों का दवाब बढऩे लगा कि नई पार्टी का गठन किया जाए। समर्थकों के दवाब में आकर हुड्डा ने प्रदेश में नब्ज टटोलने की एक योजना बनाई है। इसी योजना के तहत हुड््डा ने सिरसा में दस्तक दी, तो आईना देखने को मिला कि हुड्डा कार्यकाल में मलाई खाने वालों के पास दिखावा तो है, मगर आमजनों की भारी किल्लत है। हुड्डा के इस दो दिवसीय दौरे में ऐसे कांग्रेसी चेहरे भी ेदेखने को मिले, जिन्हें कभी कांग्रेसी बैठकों या कार्यक्रमों में न तो देखा गया और न ही इन्होंने कांग्रेस भवन में दस्तक दी है। हुड्डा को भी ऐसी जानकारी उपलब्ध करवा दी गई कि उनके अपने कभी भी दगा दे सकते है, जिन्होंने हुड्डा विरोधियों से व्यापारिक संबंध बना लिए है।

प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर के मुख्यमंत्री बनने पर मुझे कोई एतराज नहीं: हुड्डा
अपने सिरसा दौरे के दौरान कांग्रेस नेता होशियारी लाल शर्मा के कार्यालय के नजदीक पत्रकारों से रूबरू होते हुए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि  प्रदेश का सीएम अशोक तंवर बने, इससे उन्हें कोई एतराज नहीं है, केवल कांग्रेस की सरकार बननी चाहिए। सीएम किसे बनाना है, यह तो कांग्रेस आलाकमान व विधायक तय करते है। उन्हें इससे कोई परहेज नहीं।

No comments