हुड्डा के ''पर" कतरने की तैयारी: शिकायती अभियान शुरू

सिरसा(प्रैसवार्ता)। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की प्रदेश कांग्रेस में की जा रही उथल-पुथल के प्रयासों पर शिकंजा कसने की तैयारी उन कांग्रेसी दिग्गजों ने कर ली है, जिन्हें हुड्डा ने अपने मुख्यमंत्री काल में राजनीतिक घाव दिए थे। पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेसी दिग्गज कैप्टन अजय सिंह यादव ने अनुशासन समिति के मुखिया ए के एंटनी से मिलकर हुड्डा की शिकायत दर्ज करवाकर कहा है कि हुड्डा स्वयं को पार्टी से बड़ा समझते है और उन्होंने दिल्ली में हुई किसान रैली में पार्टी प्रधान अशोक तंवर के खिलाफ अपने समर्थकों से हूटिंग तथा नारेबाजी करवाकर कांग्रेस पार्टी को शर्मसार किया है। इससे पूर्व भी हुड्डा अपने समर्थकों से तंवर के खिलाफ नारेबाजी करवा चुके है। हुड्डा की कार्यप्रणाली और पार्टी दिग्गजों के प्रति व्यवहार के चलते प्रदेश में कांग्रेस की काफी दुर्गति हुई है और कांग्रेसी विधायकों का आंकड़ा 15 मिनट में सिमट कर रह गया है। हुड्डा समर्थकों ने विधानसभा चुनाव में हुड्डा के इशारे पर कांग्रेस प्रत्याशियों की खुलकर मदद नहीं की, बल्कि अंदरूणी तौर पर विरोध किया था। ऐसे में हुड्डा समर्थकों की कुंडली भी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी तक भिजवाई जा चुकी है। शायद यहीं कारण रहा होगा कि 15 कांग्रेसी विधायकों में से 14 विधायक हुड्डा के समर्थक होने के बावजूद भी हुड्डा विरोधी किरण चौधरी को विधायक दल का नेता चुना गया। कांग्रेस आलाकमान के पलड़े में हुड्डा और तंवर के तोल में भारी दिखाई देता तंवर का पलड़ा देखकर हुड्डा के ज्यादातर समर्थक तंवर के खेमे में तेजी से बढ़ रहे है। कांग्रेस हाईकमान की सोच, अनदेखी और तंवर के बढ़ते प्रभाव को लेकर हुड्डा समर्थक भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर दवाब बना रहे है कि गुलाबी कांग्रेस का गठन कर लेंवे, जबकि ज्यादातर इसके विरोध में है, क्योंकि हरियाणवी मतदाता नई राजनीतिक दुकान को कामयाब नहीं होने देते और नई राजनीतिक दुकान जल्द ही बंद हो जाती है। हुड्डा पर पंजाबी समुदाय के विरूद्ध टिप्पणी करने वाले हवा सिंह सांगवान की मदद के आरोप को लेकर पंजाबी समुदाय भी हुड्डा के विरोध में खडा होने की तैयारी कर रहा है, जिसका फायदा यकीनी तंवर को मिलेगा। राजनीतिक प्रयास उन्हें मात्र राजनीतिक घाव ही दे रहा है, जिसे कांग्रेस हाइकमान बारीकी से देख रहा है। प्रदेश में ऐसी स्थिति बनती जा रही है कि कांग्रेस हाईकमान का विवश होकर हुड्डा के राजनीतिक ''पर" काटने ही पड़ेंगे।

No comments