चश्मा पहनाकर और कफन ओढ़ाकर फूंक दिया पुलिस प्रशासन का पुतला...

सिरसा(प्रैसवार्ता)। नगर परिषद के भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी न होने के चलते सोमवार सुबह हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत वामपंथी नेताओं ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर पुलिस प्रशासन का पुतला फूंका गया। सोमवार सुबह 9 बजे शिव चौक पर एकत्रित हुए लोगों ने 10 बजे तक शहर के कई गणमान्यों का इंतजार किया। धीरे-धीरे लोग एकत्रित होने लग गए और 11 बजे शिव चौक से प्रदर्शन शुरू हुआ। प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार पुलिस प्रशासन के पुतले को एक रंग रूप दिया गया था। पुतले को चश्मा पहनाया गया और छाती पर पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लिखे हुए थे। पुतले को लाश का रूप देते हुए कफन ओढ़ाया गया। करीब 11 बजे शहरभर में हल्ला बोल रैली का कार्यक्रम शुरू किया गया। प्रदर्शनकारियों के हाथ में तख्तियों पर स्लोगन लिखे हुए थे, जिसमें लोकतंत्र बचाओ देश बचाओ, भ्रष्टाचार मुर्दाबाद, इन्कलाब जिंदाबाद, जो भ्रष्टाचारियों का यार है वो देश का गद्दार है। पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लिखे हुए थे। यह रैली जगदेव सिंह चौक से होते हुए, स्काउट चौक होते हुए सुभाष चौक से भगत ङ्क्षसह चौक पहुंची। वहां प्रदर्शनकारियों ने पुलिस प्रशासन का पुतला फूंका और नराजगी व्यक्त की। वामपंथी नेताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि 18 अक्टूबर तक प्रशासन इन आरोपियों को गिरफ्तार करे नहीं तो वामपंथी नेता शहर व गांव के विभिन्न वर्गों के साथ मिलकर 20 अक्टूबर को जिला उपायुक्त कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन करेंगे।  

प्रदर्शनकारियों को रात भर करते रहे पुलिस परेशान 
वामपंथी नेता टोनी सागू व कामरेड जगरुप सिंह का आरोप है कि पुलिस रात भर उन लागों को परेशान करती रही। रविवार रात को एक पुलिस कर्मचारी उनके पास आये थे। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि प्रदर्शन की तुम लोगों ने मंजूरी नहीं ली है। इसलिए सोमवार को पूर्व निर्धारित हल्ला-बोल कार्यक्रम नहीं कर सकते। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस अधिकारी को स्पष्ट लहजे में कहा कि भ्रष्ट अधिकारियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सिटी थाना के बाहर 88 दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। भ्रष्टअधिकारियों को गिरफ्तार करने की मांग उनकी जायज है। अगर वह उन लोगों को गिरफ्तार करना चाहती है तो कर सकती है। 

प्रदर्शन में ये रहे शामिल
राज्य कार्यकारिणी सदस्य कामरेड विर्क, करिवाला के ब्रांच सचिव जोगिंद्र सिंह, कामरेड स्वर्ण सिंह गोरा एडवोकेट, सीपीएम के जिला सचिव राजकुमार शेखूपुरिया,  सीपीआई के जिला सचिव लक्ष्मण सिंह शेखावत, टेलर यूनियन के सचिव सुखवीर सिंह समाजसेवी जयकुमार देशवाली, आत्माराम, अमित सुथार, हरियाणा रोडवेज के जिला प्रधान मदन लाल खोथ, सचिव सुरजीत अरोड़ा, गुरदित्ता कंबोज, सुनील कुमार, रोडवेज यूनियन के प्रधान चमन  लाल, सगन लाल, सुरेश खोथ, राधेश्याम, विकास, सुरेश मान सिंह डेरी, रोहताश, जयकुमार प्रचार, संजय कुमार, अजन कुमार, पंकज कुमार, अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार परिषद के सचिव अमरजती ङ्क्षसह, नहर पटवार संघ के जिला प्रधान अशोक पटवारी समाजसेवी कमल सैनी, सीपीआई नेता इंद्रराज, महिला समिति सदस्य वीरपाल, पत्रकार प्रदीप सचदेवा, योग समिति के जिला प्रभारी विरेंद्र कुमार नागपाल, निगरानी समिति के पूर्व चेयरमैन कृष्ण, समाजसेवी हरवंश लाल भाटिया, केशव अरोड़ा, समाजसेवी रामचंद्र बंसल, जय मां दुर्गा समाज सेवा संस्थान के प्रधान रमेश कटारिया, समाजसेवी जसपाल सिंह, श्री कलगीघर गुरुद्वारा के प्रधान सरदार जोगा सिंह, सदस्य सरदार जीत सिंह, सचिव राजेंद्र सिंह, समाजसेवी बाबा अमर सिंह, वामपंथी नेता रणजीत स्टार, जस्सी सिंह, राहताश शेखूपुरिया, पंकज कामरा, दयाराम, राजेंद्र, संदीप सैनी, हैप्पी, हरियाणा गुरुद्वारा कमेटी के शहरी प्रधान विरेंद्र सिंह खालसा, कंगनपुर गुरुद्वारा के प्रधान बघेल सिंह खालसा, रोशन  लाल मौजूद थे। 

No comments