झोरडरोही में हुई हत्या मामले की जांच निष्पक्ष एजेंसी से करवाने की मांग

सिरसा(प्रैसवार्ता)। रोड़ी थाना क्षेत्र के गांव झोरडऱोही में बीती 11 नवंबर को हुई हत्या के मामले में हरनेक सिंह, गुरदीप सिंह, राम अवतार, कृष्ण निवासी गांव रघुआना ने  रविवार को जाट धर्मशाला में पत्रकारों से रूबरू होकर बताया कि बअंत कौर की शादी जसपाल सिंह उर्फ पाली से हुई थी। हरनेक सिंह का आरोप है कि कर्म सिंह हत्या मामले में हरेंद्र सिंह, गुरेंद्र सिंह, कुलबीर सिंह, जसपाल सिंह व गग्गू इत्यादि का नाम झूठा पुलिस में लिखवाया गया है, जबकि हरेंद्र तथा गुरेंद्र गांव रघुआना के रहने वाले है और घटना वाले दिन अपने गांव में ही थे। यह नाम एक पुरानी दुश्मनी के चलते लिखवाए गए है और इनका इस मामले में किसी प्रकार से भी कोई हाथ या दखलअंदाजी नहीं है। हरनेक सिंह ने पत्रकारों के समक्ष आरोप लगाया कि जसवीर सिंह के बयान पर जो मुकद्दमा नंबर 121 दर्ज किया है, वह गलत है, क्योंकि जसवीर सिंह मौके पर नहीं था। नाजर सिंह, जोकि पंजाब के मिया गांव का रहने वाला है, यह मृतक कर्म सिंह का रिश्तेदार है तथा यह सारे मिलजुल कर अफीम व चूरापोस्त का कारोबार करते है। घटना से करीब 5 मास पूर्व कर्म सिंह के लड़कों के साथ नशे के पैसों के कारोबार को लेकर झगड़ा हुआ था, जिसका मामला भी दर्ज है। मामला दर्ज करवाने वाले तथा बतौर गवाह दर्शाए गए सभी व्यक्ति अपराधिक पृष्ठ भूमि से है और इन पर नशे के कारोबार को लेकर कई मुकद्दमे अदालतों में विचाराधीन है। 11 नवंबर को दर्ज हुआ यह मामला एक सोची समझी साजिश के तहत दर्ज करवाया गया है। हरनेक सिंह ने मीडिया के माध्यम से सरकार व पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से यह मांंग की है कि इस मामले की जांच एस.आई.टी/निष्पक्ष एजेंसी से करवाई जाए, ताकि सत्यता सामने आ सके। हरनेक सिंह ने यह भी कहा है कि वह एसआईटी तथा पुलिस प्रशासन को जांच में हरसंभव सहयोग देने के लिए तैयार है। हरनेक का आरोप है कि रोड़ी थाना पुलिस से उन्हें इंसाफ की कोई उम्मीद नहीं है, इसलिए जांच एसआईटी को सौंपी जाए।

No comments