पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा का चौटाला प्रेम भी बैकफुट पर

सिरसा(प्रैैसवार्ता)। सत्ता से बाहर होते हुए स्वयं को अपना अस्तित्व बरकरार रखने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का हर प्रयास उन्हें बैकफुट पर ले जा रहा है। कांग्रेस हाईकमान को रिझाने तथा हरियाणावासियों की नब्ज टटोलने उपरांत हुड्डा राजनीतिक कोप भवन की तरफ बढ़ते दिखाई दे रहे है। एक विशेष का चौधरी बनने का स्वपन चूर-चूर होने उपरांत हुड्डा अपनी पुरानी फोरम में आ गए है और उन्होंने काला कोर्ट पहनकर रोहतक में वकालत शुरू कर दी है। प्रदेश की राजनीति में हिचकौले खा रही इनैलो का समर्थन प्राप्त करने के लिए इनैलो सुप्रीमों ओम प्रकाश चौटाला की पैरोल को लेकर हुड्डा टिप्पणी से इनैलो भड़क उठी है, जिसके चलते इनैलो समर्थन के हुड्डा प्रयास पर भी ग्रहण लग गया है। चौटाला के पौत्र तथा इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने कहा कि हुड्डा चौटाला परिवार की भावनाओं के साथ न खेले। दिग्विजय का आरोप है कि दिल्ली सरकार चौटाला को हरियाणा की एक अदालत में तबदील करना चाहती है, मगर तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने ऐसा नहीं होने दिया और  सभी प्रकार से बैकफुट पर पहुंच चुके हुड्डा का सहानुभूति के लिए बयान देना एक ढोंग है।  हुड्डा  की बदौलत ही चौटाला बंधु जेल में है। जुनियर चौटाला ने हुड्डा से कहा है कि उन्हें भी उनकी करणी का फल जरूर मिलेगा, क्योंकि हुड्डा कांग्रेस की दुर्गति तो कर चुके है। हुड्डा के अपने दूरी बना रहे है, हर प्रयास पिट रहा है, कोई साथ देने के लिए तैयार नहीं है, ऐसी स्थिति में कोप भवन की एक राजनीतिक आशियाना हुड्डा के लिए दिखाई दे रहा है।

No comments