खुड्डे लाईन की तरफ बढ़ रहे है पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा

सिरसा(प्रैसवार्ता)। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा क्या राजनीतिक तौर पर खुड्डेे लाईन की तरफ बढ़ रहे है, क्योंकि कांग्रेस हाईकमान निरंतर अनदेखी किए हुए है। पुराने दिनों की यादों की पिटारी को लेकर हुड्डा कांग्रेस हाईकमान को संतुष्ट करने के लिए बार-बार प्रयास कर रहे है, मगर लोकसभा तथा विधानसभा में हुई कांग्रेस की दुर्गति को लेकर उन पर फोड़ा जा रहा ठीकरा पीछा नहीं छोड़ रहा, बल्कि हुड्डा के अपने जरूर दूरी बनाने लगे है। हुड्डा समर्थकों द्वारा हुड्डा लाईन और खुड्डा लाइन की डुगडुगी बजाने से हरियाणवी राजनीति में उथल-पुथल शुरू हो गई है। काबिलेगौर है कि हुड्डा पिछले एक वर्ष से प्रदेश की राजनीति में अपना राग अलाप कर अपनों की नब्ज टटोल रहे है, तो दूसरी तरफ कांग्रेस के मौजूदा प्रधान अशोक तंवर ने धुंआधार बैटिंग शुरू करके कई महत्वपूर्ण विकेट झटके है। तंवर  की प्रदेशस्तरीय की सक्रियता से कांग्रेस तेजी से उभर रही है, जो हुड्डा को बेचैन किए हुए है। अपने एक दशक के कार्यकाल में हुड्डा ने इंदिरा ही कांग्रेस और कांग्रेस ही इंदिरा की तर्ज हरियाणा में हुड्डा ही कांग्रेस और कांग्रेस ही हुड्डा का खेल खेलते हुए ज्यादातर कांग्रेसी दिग्गजों को राजनीतिक झटके दिए, जिसका खामियाजा कांग्रेस को लोकसभा तथा विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ा था। रोहतक में खिसकते जनाधार के चलते हुड्डा ने जींद जिले में दस्तक दे दी है, ताकि वह अपनी राजनीतिक जमीं को बरकरार रख सके। हुड्डा एक विशेष वर्ग का चौधरी बनने की फिराक में था, कि कांग्रेस हाईकमान ने हुड्डा के राजनीतिक पर कुतरने के लिए रणदीप सिंह सुरेजवाला को प्रांतीय राजनीति में उतार दिया और इसी के साथ ही हुड्डा को खुड्डे लाईन लगाने की कांग्रेसी कवायद शुरू हो गई है। प्रदेश में जाट वर्ग का रूझान इनैलो की तरफ देखा जा रहा है, जिसमें कांग्रेसी सेंधमारी में भूपेंद्र हुड्डा असफल रहने के चलते कांग्रेस ने सुरेजवाला पर दाव खेला है। गैर जाटों को कांग्रेसी ध्वज के नीचे लाने के लिए अशोक तंवर काफी सक्रिय देखे जा रहे है। भाजपा शासन के मात्र एक वर्ष में गैर जाट सरकार बनाने को लेकर पछतावा करके कांग्रेस की तरफ आकर्षित होते दिखाई देखे जाने लगे है। भूपेंद्र हुड्डा ने अपने शासन काल में जितने राजसी घाव कांग्रेसी दिग्गजों को दिए थे, उससे कहीं ज्यादा राजनीतिक झटके कांग्रेस हाईकमान हुड्डा को निरंतर दे रहा है, जिससे ऐसा संकेत मिलता है कि हुड्डा खुड्डे लाईन की तरफ बढ़ रहे है। 

No comments