डेरा सच्चा सौदा में शुरू हुआ अंधेरी जिंदगियों में रोशनी लाने का अभियान

सिरसा(प्रैसवार्ता)। संत गुरमीत राम रहीम इन्सां ने कहा कि सतगुरु, मौल्ला हर समय हर किसी के साथ है, दृढ यकीन करने और सेवा सुमिरन करने वाले सदा उसकी रहमत के नजारे लूटते रहते हैं। ईश्वर के गुण गाते जाओ, वो झोलियां भरता रहता है। वे रविवार को डेरा सच्चा सौदा में आयोजित रूहानी सत्संग में साध संगत को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सेवादार सदैव दीनता, नम्रता के गहने पहने रखते हैं। गुरु सिख का अर्थ है गुरु का शिष्य। उसे सेवा, सुमिरन से प्यार होता है । काम-क्रोध-लोभ-मोह-अंहकार इत्यादि बुराइयों से लड़ता रहता है और जीत जाता है। दीनता-नम्रता का पुजारी होता है और इगो अहंकार तो उसके आगे ठहरता भी नहीं। इस दौरान संत गुरमीत राम रहीम इन्सां ने हजारों लोगों को  गुरुमंत्र, नामशब्द प्रदान कर बुराइयां त्यागने का संकल्प करवाया और आशियाना मुहिम के तहत साध संगत द्वारा 3 जरूरतमंद परिवारों को बनाकर दिए गए मकानों की चाबियां पात्रों को सौंपी। पूज्य गुरुजी ने साथी मुहिम के तहत 3 निशक्तजनों को ट्राई साइकिलें भी भेंट की। उन्होंने साध संगत से आह्वान किया कि डेरा सच्चा सौदा में सेवा के जो कार्य हो रहे हैं, उनमें बढ़ चढ़ कर आहुति दें और दूसरों का भला करें।  
अंधेरी जिंदगियों को रोशन करने का अभियान शुरू
24वें याद ए मुर्शिद परम पिता शाह सतनाम जी महाराज फ्री आई कैंप में दूसरे दिन शनिवार को नेत्र रोगियों के आप्रेशन करने और अंधेरी जिंदगियों में रोशनी लाने का अभियान आरंभ हुआ। देश विदेश से प्रख्यात नेत्र रोग विशेषज्ञ इस विशाल कैंप में सेवाएं दे रहे हैं। सुबह सवेरे पूज्य गुरु संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां  शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल में  आप्रेशन करने वाले चिकित्सकों से रूबरू हुए तथा उन्हें अपना पावन आशीर्वाद देकर पूरी निष्ठा व सेवा भाव से मरीजों के आप्रेशन करने का आह्वान किया। दूसरे दिन कैंप में समाचार लिखे जाने तक 6111 मरीजों की ओपीडी हो चुकी थी तथा 466 को आंखों के आप्रेशन के लिए चयनित कर लिया गया था। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम आंखों के आप्रेशन करने में जुटी हुई थी तथा दोपहर तक 50 लोगों के आप्रेशन हो चुके थे। 
परम पिता शाह सतनाम जी महाराज की पावन स्मृति में हर वर्ष आयोजित होने वाले आंखों के विशाल शिविर में चिकित्सा सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तरप्रदेश व अन्य राज्यों से लोग आ रहे हैं। आप्रेशन के बाद मरीजों के रहने के लिए शाह सतनाम जी धाम स्थित सचखंड हाल में व्यापक स्तर पर प्रबंध किए गए हैं। महिला व पुरूष मरीजोंं के लिए अलग अलग वार्ड बनाए गए हैं, जहां मरीजों के खाने पीने, भोजन व सोने की व्यवस्था की गई है। मरीजों की सेवा के लिए सैंकड़ों सेवादारों की डयूटियां लगाई गई हैं, जो मरीजों को समय पर दवाइयां देने, भोजन करवाने, शौच इत्यादि करवाने में मदद कर रहे हैं। सत्संग में पूज्य गुरुजी ने आंखों के इस विशालकाय आप्रेशन कैंप को महायज्ञ की संज्ञा दी। पूज्य गुरुजी ने बताया कि आपे्रशन कैंप में सुपर स्पेशलिटी डाक्टर, पैरामेडिकल स्टॉफ व सेवादार लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि कोई गरीब जो आंखों की बीमारी से पीडि़त हो, उसे इस कैंप में लेकर आएं, यह आपकी महा सेवा होगी। उन्होंने सेवादारों को आशीर्वाद देते हुए कहा कि इंसानियत की सेवा , उन बुजुर्गों की सेवा जिनको अपने नहीं अपना रहे, आप उनके बन जाओ। 7 दिन के लिए ही सही उनकी सेवा करो तो बेमिसाल आनंद मिलेगा। पूज्य गुरुजी ने कहा कि लोग अपने मां बाप की सेवा करने में भी नाक भौं सिकोड़ते हैं और ये सेवादार, जिनको ये जानते भी नहीं उनकी सेवा करते हैं, जैसे छोटे बच्चे की मां संभाल करती है हम इन्हे सैल्यूट करते हैं। पूज्य गुरुजी ने शिविर में सेवाएं देने आए डाक्टरों की सराहना करते हुए कहा कि डाक्टर भी महा सेवा दिल से कर रहे हें, इंसानियत की सेवा कर रहे हैं, इन्हें भी सैल्यूट करते हैं। उन्होंने कहा कि सेवा का महाकुंभ आरंभ हो चुका है, इसमें ज्यादा से ज्यादा सेवा करें और जरूरतमंदों को लेकर आएं। 

No comments