इनैलो के गढ़ में गड़बड़ाया भाजपाई गणित: नया जिलाध्यक्ष नहीं मिलेंगा नये वर्ष पर

सिरसा(प्रैसवार्ता)। भाजपा के दो दिग्गजों के बीच चल रही राजनीतिक आंख मिचौली के चलते जिला भाजपा को नए वर्ष में नया जिलाध्यक्ष नहीं मिल पाएगा, जिसके लिए कई भाजपाई भाग दौड़ कर रहे थे। इनैलो के इस गढ़ कहे जाने वाले सिरसा जिला के इन पांचों विधानसभा क्षेत्रों के साथ साथ संसदीय क्षेत्र सिरसा पर इनैलो का कब्जा है। इनैलो के इस कथित गढ़ में सेंधमारी के लिए भाजपा के पास एक दो चेहरे तो है, मगर उन चेहरों पर दिखाई दे रहे वरिष्ठ भाजपा की दिग्गजों की तस्वीर जिला प्रधानगी के आड़े आ रही है। भाजपा की जिला कमान का मामला शीर्ष नेतृत्व तक पहुंच चुका है और शायद यहीं कारण रहा होगा कि भाजपाई दिग्गजों की आंख मिचौली के चलते फिलहाल जिला प्रधानगी का मामला रोक दिया गया है। भाजपाई परंपरा के अनुसार आम सहमति से हमेशा जिलाध्यक्ष बनाया जाता है, मगर  प्रदेश में भाजपा सरकार बनने उपरांत जिला कमान संभालने  के इच्छुकों के बढ़ते आंकड़े को देखते हुए पार्टी ने चुनाव अधिकारी के साथ साथ एक पर्यवेक्षक भी नियुक्त किया है, जबकि इससे पूर्व प्रदेश से सभी दस ससंदीय क्षेत्रों में पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। सिरसा जिला में भाजपाई कमान संभालने के इच्छुकों के ख्वाब को भाजपाई दिग्गजों की राजनीतिक जंग ने फिलहाल ग्रहण लगा दिया है।

No comments