बठिण्डा से चुनाव लड़ सकते है सुखबीर बादल - The Pressvarta Trust

Breaking

Sunday, February 14, 2016

बठिण्डा से चुनाव लड़ सकते है सुखबीर बादल

बठिण्डा(प्रैसवार्ता)। आगामी वर्ष को होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर निरंतर प्रदेश के राजनीतिक समीकरणों में बदलाव आ रहा है, वहीं चर्चाएं शुरू हो गई है कि कौन सा राजसी दिग्गज किस विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेगा। ऐसी चर्चाओं में यह भी चर्चा है कि पीपुल्स पार्टी ऑफ पंजाब(पीपीपी) रूपी राजनीतिक दुकान को कांग्रेस के शौरूम में दाखिल करवाने वाले पूर्व वित्त मंत्री पंजाब मनप्रीत सिंह बादल बठिण्डा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी हो सकते है, जिन्हें राजनीतिक झटका देने के लिए शिरोमणी अकाली दल के प्रधान तथा उप मुख्यमंत्री पंजाब सुखबीर सिंह बादल चुनावी मैदान में उतर सकते है। सूत्रों के मुताबिक बठिण्डा से कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी हरमिन्द्र सिंह जस्सी पर शिरोमणी अकाली दल में शामिल होने के प्रयास शुरू हो चुके है। मनप्रीत बादल बठिण्डा संसदीय क्षेत्र से बतौर कांग्रेसी प्रत्याशी चुनाव लड़कर पराजित हो चुके है। उन्हें सुखबीर बादल की धर्मपत्नी हरसिमरत कौर बादल ने पराजित किया था, जो वर्तमान में मोदी मंत्रीमंडल की सदस्या हैै। बठिण्डा में हुए तेजी से विकास के पीछे यह माना जाने लगा है कि सुखबीर बादल ही इस विधानसभा क्षेत्र से अपना चुनावी भाग्य अजमाएंगे। चर्चा तो यह भी है कि सांसद भगवंत मान को आम आदमी पार्टी(आप) सुखबीर सिंह बादल के मुकाबले में चुनावी समर में उतारने की तैयारी कर रही है। भाजपा के पूर्व सांसद नवजोत सिंह सिद्धू तथा उनकी धर्मपत्नी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू मुख्य संसदीय सचिव पंजाब यदि आप में शामिल हो जाते है, तो सिद्धू को सुखबीर बादल का सामना करने के लिए चुनावी दंगल में उतारा जा सकता है। आम आदमी पार्टी का फिलहाल फोक्स सुखबीर बादल पर बताया जा रहा है। आप की सोच है कि सुखबीर बादल के सामने भगवंत मान या फिर नवजोत सिद्धू, यदि वह आप में शामिल होते है, को मीडिया में कैश करके आप के प्रचार में इजाफा किया जाए। यदि आप किसी प्रभावी राजसी दिग्गज को सुखबीर बादल के समक्ष चुनाव लड़वाती है, तो प्रचार होना यकीनी कहा जा सकता है। सुखबीर बादल किस क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे, नवजोत सिद्धू की राजनीतिक तस्वीर कैसी रहेगी, यह तो आने वाला समय ही बताएगा, मगर प्रदेश में बदलते राजनीतिक समीकरण और चर्चाएं जरूर नई कहानियों को जन्म देती रहेंगी।

No comments:

Post a Comment

Pages