डॉ. गुलाब सिंह की पहल: महज 50 रूपए में होगी मरीजों की ओपीडी

प्रैसवार्ता न्यूज, सिरसा(विक्रम भाटिया)। अक्सर हम अपने खुशियों के दिनों को पार्टी वगैरा कर सेलीब्रेट करते है, मगर सिरसा के प्रसिद्ध चिकित्सक  डॉ. गुलाब सिंह सिहाग अपने जन्मदिन को एक बेहतरीन ढंग से सेलीब्रेट करने जा रहे है। डॉ. सिहाग सिहाग अस्पताल के संचालक है और वे अपने 71वें जन्मदिन पर मरीजों को तोहफा देने जा रहे हैै। यह तोहफा महज एक दिन या दो दिन का नहीं है, बल्कि जीवनभर का है।

ये है तोहफा
डॉ. सिहाग ने फैसला लिया है कि 5 मार्च से उनके अस्पताल में सुबह 8 से 9 बजे के बीच आने वाले मरीजों से ओपीडी फीस 200 रुपये की बजाय महज 50 रुपये ही ली जाएगी। सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच में आने वाले मरीजों से 100 रुपये ओपीडी फीस ली जाएगी और 2 बजे बाद आने वाले मरीजों से पूर्व की भांति ही ओपीडी फीस 200 रुपये ली जाएगी।  यह नियम महज कुछ दिन के लिए नहीं है बल्कि हमेशा ही इतनी फीस ली जाएगी। 

मरीजों को पहुंचेगा लाभ
चूंकि अधिकतर मरीज सुबह के समय में ही अस्पताल में उपचार हेतु आते है, इसलिए इस निर्णय से मरीजों को अधिक लाभ पहुंचेगा। हाल ही में सिरसा शहर में जन औषधि केंद्र का शुभारंभ हुआ है, जहां मरीजों को सस्ती दवाईयां उपलब्ध करवाई जा रही है, लेकिन डॉ. सिहाग की इस पहल से मरीजों को ओपीडी में आर्थिक लाभ मिलेगा।

71 साल की उम्र में भी  चुस्त-दुरुस्त है डॉ. गुलाब
71 साल की उम्र में भी चुस्त-दुरुस्त रहने वाले डॉ. सिहाग ने कहा कि स्वस्थ रहने के लिए वे नियमित रूप से सुबह सैर व व्यायाम करते हैं। सकारात्मक सोच रखते हैं। बागवानी का शौक रखने वाले डॉ. सिहाग ने कहा कि उन्हें जब भी समय मिलता है, वे अपने घर पर ही विभिन्न प्रकार के फूल-पौधों की देखरेख करते हैं। उनके घर पर ही कई तरह के फलों का उत्पादन होता है। दिल्ली व रोहतक के बाद सिरसा में लंबे समय से स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे डा. सिहाग ने कहा कि उनकी सोच है कि मरीजों का कम से कम खर्च में अच्छा उपचार किया जा सके। वे चाहते हैं कि अन्य चिकित्सक भी इस तरह की सोच अपनाए ताकि गरीब व जरूरतमंद मरीजों को लाभ मिल सके।

1 comment:

  1. very many thanks Vikram ji.Congratultios to dr. Sihag for his humanity sevice towsrds the patients.My suggestion to dr.Sihag that opd fees from poor should be minimum irrespctive of timings they visit to hospital.

    ReplyDelete