भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों की अब खैर नहीं...

सिरसा(प्रैसवार्ता)। पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता ने एक हवलदार द्वारा 5 हजार रूपए की रिश्वत लेने के मामले में कडा संज्ञान लेते हुए उसे पुलिस विभाग से बर्खास्त कर दिया है। पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता ने कहा कि विभाग में भ्रष्टाचार को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी पुलिस अधिकारी व कर्मचारी ने आमजन से यदि किसी कार्य की एवज में पैसों की मांग की, तो उसकी खैर नहीं। यदि रिश्वत का मामला उनके संज्ञान में आता है, तो वह उस पुलिस अधिकारी व कर्मचारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे और ऐसे भ्रष्ट अधिकारी व कर्मचारी का पुलिस विभाग में कोई स्थान नहीं होगा। गौरतलब है कि चौपटा थाना में तैनात प्रीतम सिंह हवलदार (हैड कांस्टेबल) बेल्ट नंबर 176 पर गांव नहराना निवासी सुभाष चंद्र पुत्र सुल्तान सिंह से उसके भाई ईश्वर सिंह की किसी मामले में जमानत के लिए 5 हजार रूपए के आरोप लगे थे। इस संबंध में नहराना निवासी सुभाष चंद्र की शिकायत पर हैड कांस्टेबल प्रीतम सिंह के खिलाफ चौपटा थाना में 29 अगस्त 2015 को भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर उसे निलंबित कर दिया गया। हवलदार प्रीतम सिंह के खिलाफ चली विभागीय जांच के दौरान पांच हजार रूपए की रिश्वत लेने के आरोप सिद्ध हो गए और उसे पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता द्वारा पुलिस विभाग से बर्खास्त कर दिया गया हैं।

No comments