चोपड़ा जी सिरसा में चोपड़ रहे है इनैलो को

सिरसा(प्रैसवार्ता)। भाजपा अनुशासन समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. गणेशी लाल को, जो सिरसा में विधायक भी रह चुके है, राजनीतिक पटकनी दे रहे मुख्यमंत्री हरियाणा के राजनीतिक सलाहकार जगदीश चोपड़ा न सिर्फ इनैलो के गढ़ कहे जाने वाले सिरसा में सेंधमारी कर रहे है, बल्कि ग्रामीण आंचल में भगवा भी फहरा रहे है। संसदीय क्षेत्र सिरसा तथा सिरसा जिला के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में इनैलो का कब्जा है, परंतु पंचायती राज चुनाव परिणामों ने इनैलो को आईना दिखा दिया है। सिरसा जिला की सात खंड समितियों में से पांच पर भाजपा व एक पर कांग्रेस ने विजयी परचम लहराया है। एक का चुनाव होना शेष है। चोपड़ा अपने चिकने-चुपड़े जाल का इस्तेमाल करके इनैलों दिग्गजों पर डोरे डाल रहे हैै। पूर्व चेयरमैन हरदयाल गदराना व इनैलो दिग्गज बुद्ध सिंह का वह कैच भी ले चुके है। गरदाना व बुद्ध सिंह की कालांवाली विधानसभा क्षेत्र में प्रभावी पकड़ बताई जाती है, जहां से चोपड़ा अपने एक बिजनेस पार्टनर को स्थापित करना चाहते है। जिसके लिए चोपड़ा ने कालांवाली क्षेत्र को अपना फोक्स बनाया है। इनैलो सुप्रीमों ओम प्रकाश चौटाला व युवा कमांडर अजय चौटाला को हुई दस-दस वर्ष की कैद से कालांवाली क्षेत्र में इनैलो की राजनीतिक गतिविधियां ठप्प सी हो गई है। इनैलो नेताओं की निष्क्रियता का फायदा उठाने के लिए चोपड़ा ने अपना चिकना-चुपड़ा जाल फैंककर डोरे डालने शुरू कर दिए है, ताकि भाजपा का जनाधार बढ़ाने के साथ साथ अपने बिजनेस पार्टनर के लिए राजनीतिक मंच तैयार किया जा सके। चोपड़ा इनैलो तालमेल के साथ सिरसा विधानसभा क्षेत्र से अपना भाग्य भी अजमा चुके है, जिसमें उन्हें कामयाबी नहीं मिली। सिरसा से विधायक रहे भाजपाई दिग्गज गणेशी लाल राजनीति में सक्रिय है, मगर चोपड़ा के मुकाबले उन्हें राजनीतिक डबल जीरो के रूप में देखा जा रहा है। अपनी पकड़ मजबूत बनाने के लिए चोपड़ा ने अपने बेटे अमन चोपड़ा को राजनीतिक मैदान में उतार दिया है। अमन निरंतर जनसंपर्क बनाकर अपने पिता जगदीश चोपड़ा के लिए राजनीतिक प्लेटफॉर्म तैयार कर रहे है। जगदीश चोपड़ा की राजनीतिक सेंधमारी से इनैलो की चिंतित देखी जा रही है, वहीं चोपड़ा का बढ़ता राजनीतिक कद उनके अपने ही विरोधियों की नींद उड़ाये हुए है।


No comments