निगम का जिला प्रबधंक रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू

सिरसा(प्रैसवार्ता)। 50 हजार रूपए का लोन मंजूर करवाने की ऐवज में 5500 रूपए की रिश्वत लेते स्टेट विजीलेंस ब्यूरों की एक टीम ने हरियाणा पिछड़े वर्ग व आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कल्याण निगम के जिला प्रबधंक राजकुमार को रंगे हाथों काबू किया है। गांव ओढ़ा निवासी बूटा राम के बहनोई डबवाली निवासी कुलदीप को अपने कपड़े के व्यवसाय हेतु 50,000 रूपए का लोन मंजूर करवाना था। कुलदीप के अपंग होने के कारण उसका साला बूटा राम उक्त लोन मंजूर करवाने के लिए पिछड़ा वर्ग कल्याण निगम के जिला प्रबंधक राजकुमार के संपर्क में था। लोन मंजूर करवाने के नाम पर निगम के जिला प्रबंधक द्वारा रिश्वत की मांग की गई थी। गांव ओढ़ा निवासी बूटा राम ने रिश्वत मांगे जाने की शिकायत स्टेट विजीलेंस ब्यूरों, सिरसा को दी, जिस पर स्टेट विजीलेंस ने पूरी तरह जाल फैलाया और पाउडर लगे नोट बूटा राम को थमा दिए। बूटा राम 5500 रूपए की राशि लेकर जैसे ही निगम के जिला प्रबधंक को देने भादरा बाजार की मोचीवाली गली स्थित देने पहुंचा और रिश्वत के तौर पर उक्त राशि को देकर जैसे ही विजीलेंस की टीम को इशारा किया, तो तुरंत इंस्पैक्टर विजीलेंस जगजीत गोदारा की टीम ने जिला प्रबंधक राजकुमार को रिश्वत की राशि के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि विजीलेंस की टीम निगम के जिला प्रबधंक राजकुमार को साथ लेकर चली गई है।

No comments