25 सितंबर को होंगे सिरसा में नगर परिषद के चुनाव, अमन चौपड़ा व नवीन केडिया सियासी जमीन पर मजबूत

सिरसा(प्रैसवार्ता)। नगर परिषद के चिरप्रतीक्षित चुनावों का इंतजार अब खत्म हो गया है। आगामी 25 सितंबर को नगर निकाय सिरसा के चुनाव होंगे। इसी दिन शाम को परिणामों की घोषणा की जाएगी। सिरसा में इस घोषणा के साथ आदर्श आचार संहिता लग गई है। "प्रैसवार्ता" को मिली जानकारी के अनुसार शहर के 31 वार्डों के लिए 25 सितंबर को चुनाव करवाए जाएंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त विजय सिंह दहिया ने उपायुक्त को निर्देश दिए है कि शांतिपूर्वक व निष्पक्ष चुनावों के लिए सभी तरह के प्रबंध सुनिश्चित करें। हरियाणा में तमाम नगर पालिकाओं और नगर परिषदों के चुनाव पहले ही हो चुके है, लेकिन मतदाता सूचियों में त्रुटियों के चलते सिरसा व भिवानी नगर परिषद के चुनाव टाल दिए गए थे। इसके चलते परिषद का चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों में भी निराशा पैदा हो गई थी। चुनावों की घोषणा के साथ ही सियासी चर्चाएँ शुरू हो गई है। प्रत्याशी बनने के इच्छुक लोगों ने भी आज से ही तैयारी शुरू कर दी है, ताकि घर-घर जाकर मतदाताओं से संपर्क स्थापित किया जाए। सिरसा नगर परिषद भंग चल रही है और लोग विकास कार्यों के लिए नए पार्षदों का चुनाव शीघ्र चाह रहे थे। नगर परिषद में प्रशासक के तौर पर एसडीएम को नियुक्त किया गया था। इस बार चुनाव लडऩे के लिए सरकार द्वारा कुछ नई शर्तें निर्धारित की गई है, जिस कारण कहीं चेहरे चुनावी प्रक्रिया के दायरे में नहीं आते। ऐसे चेहरों को अपने परिवारजनों या किसी चहेते को ही आगे लाना होगा।

सिरसा नगर परिषद है खास
प्रदेश में सिरसा नगर परिषद का चुनाव खास मायने रखता है। यह पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला का गृह क्षेत्र है। मुख्यमंत्री हरियाणा के राजनीतिक सलाहकार जगदीश चौपड़ा यहां काफी सक्रिय है। हलोपा के सुप्रीमों गोपाल कांडा द्वारा चुनावी रंग में अपने सैनिक उतारने की चर्चाएं है। ऐसे में देखना यह होगा कि किसकी किस्मत काम करती है। वर्तमान में कांग्रेस में जहां गुटबाजी है, वहीं भाजपा भी इससे अछूती नहीं कही जा सकती। इनैलो तथा हलोपा में गुटबाजी का प्रश्र ही पैदा नहीं होता, क्योंकि यह एक निजी राजनीतिक दल कहे जा सकते है।

अमन चौपड़ा व नवीन केडिया सियासी जमीन पर मजबूत
सत्तारूढ़ भाजपा की ओर से युवा भाजपा नेता अमन चौपड़ा कुछ ही वक्त में एक ऐसा चेहरा बनकर उभरें है, जिनसे लोगों को काफी उम्मीदें है। मधुर स्वभाव के चलते हर व्यक्ति की समस्या के समाधान के लिए हरसंभव प्रयास अमन चौपड़ा की लोकप्रियता में काफी इजाफा हुआ है, जबकि कांग्रेस टिकट पर सिरसा विधानसभा से चुनावी भाग्य अजमा चुके नवीन केडिया भी काफी सक्रिय है। शहर में कांडा बंधुओं की सक्रियता की भी अनदेखी नहीं की जा सकती, मगर इनैलो इस परिषद चुनाव को लेकर ज्यादा सक्रिय नजर नहीं आ रही। चूंकि चुनाव का बिगुल बज चुका है और सभी राजनीतिक दलों की पिटारियों से उम्मीदवारों के नाम घोषित होने उपरांत ही कैसी रहेगी परिषद की तस्वीर सामने आएगी। फिलहाल सभी राजनीतिक दल नगर परिषद पर कब्जा करने के लिए चुनाव सभा में उतरने के लिए  हिसाब-किताब बना रहे है। ऊँट किस करवट बैठेगा, यह तो 25 सितंबर को होने वाले मतदान के परिणाम बताएंगे।

1 comment: