बड़ी खबर: सिरसा पुलिस होगी मेरी मौत की जिम्मेवार: ममता

सिरसा(प्रैसवार्ता)। थेहड मोहल्ला, नौहरिया गेट निवासी बाबू लाल की पुत्री ममता रानी अपने साथ हुई ज्यादती को लेकर सिरसा पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न करने के चलते न्याय के लिए दर-दर की ठोकरे खा रही है और  पुलिस विभाग के बड़े बड़े अधिकारियों से गुहार लगा चुकी है, लेकिन सिरसा पुलिस तस से मस नहीं हुई। इन्हीं आरोपों के साथ ममता आज बुधवार सुबह गौशाला रोड़ स्थित वाल्मीकि मंदिर में पत्रकारों से रूबरू हुई और सिरसा पुलिस की गलत कार्यप्रणाली से अवगत करवाया। ममता ने कहा कि उसकी शादी सन् 2006 में फौजी सुरेश पुत्र मनफूल निवासी गांव कुम्हारियां से हुई थी। करीब एक साल तक तो सब कुछ ठीक चलता रहा, लेकिन इसके बाद ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा उसे परेशान किया जाने लगा। ममता का आरोप है कि उसके साथ जो भी ज्यादती हुई है, वह केवल उसके पति के नजायज संबंधों की वजह से हुई है। उसका पति सुरेश का रोड़ी थाना की महिला कांस्टेबल नीरू बाला से अवैध संबंध है और इन संबंधों की वजह से उसकी जिदंगी बर्बाद हो गई। ममता ने बताया कि अपने साथ हुई इस ज्यादती को लेकर 1 जून 2016 को अपने पति सुरेश के गांव कुम्हारिया क्षेत्र की पुलिस चौकी कागदाना व थाना चौपटा में मामला दर्ज न होने की ऐवज में 2 जून 2016 को पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता से न्याय की गुहार लगाई, तो उन्होंने मामला डीएसपी मुख्यालय विजय कक्कड़ को सौंपी और उन्होंने महिला थाना प्रभारी सीमा को शिकायत सौंप दी, जहां उसे कोई न्याय नहीं मिला। इसके बाद आईजी, सीएम विंडो, पुलिस के आला अधिकारियों को शिकायत भेजी गई, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। ममता ने कहा कि हालात आज यह हो गए है कि अगर उसे न्याय न मिला, तो वह आत्महत्या करने पर मजबूर होगी, जिसकी जिम्मेवार पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता, डीएसपी विजय कक्कड, शहर थाना प्रभारी सुभाष चंद्र व महिला थाना प्रभारी सीमा सहित सिरसा पुलिस के सभी अधिकारी होंगे। पत्रकारों से बातचीत के दौरान ममता ने वह रिकार्डिंग भी सुनाई, जिसमें उसके पति सुरेश ने उसे जान से मारने की योजना बनाई थी। इसी के साथ सुरेश व नीरू के नजायज संबंधों की फोटो दिखाई व रिकार्डिंग भी सुनाई। ममता के 9 वर्षीय बच्चे राहुल ने भी अपने साथ हुई मारपीट के संबंध में अपने पिता सुरेश पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसका पिता सुरेश उसे मारता-पीटता था, जबकि सुरेश के परिवार के लोग बीड़ी सिगरेट से उसे जलाने का प्रयास करते थे। राहुल से अपने पैरों पर जले हुए के निशान भी मीडिया कर्मियों को दिखाए। ममता ने आरोप लगाया कि जिला पुलिस अपने विभाग की महिला कांस्टेबल नीरू बाला को बचाने का प्रयास कर रहा है, जोकि उचित नहीं है। ममता ने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि उसके पति सुरेश, सास नारायणी देवी, ननद सुनीता व सुमन, महिला कांस्टेबल नीरू बाला के खिलाफ भादंसं की धारा 120बी, 498, 497, 493, 406, 506, 323, 341, 312 के तहत कार्रवाई की जाए।

वर्जन
देखिए ऐसा है कि इस मामले में जो कार्रवाई बनती है, हमनें की है। ममता के पति सुरेश व महिला कांस्टेबल नीरूबाला को गिरफ्तार कर लिया गया था। इस संबंध में जो कानूनी कार्रवाई बनती थी, वह कर ली गई है। जांच अभी जारी है।(सुभाष चंद्र, शहर थाना प्रभारी, सिरसा)

No comments