संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां ने किया 'तिरंगा रूमाल छू लीग' का शुभारंभ

सिरसा(प्रैसवार्ता)। शाह सतनाम जी धाम स्थित एमएसजी हॉल में सोमवार रात्रि को भव्य रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम के बीच 'तिरंगा रूमाल छू लीग' का शुभारंभ हुआ। प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां ने प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। इस दौरान पत्रकारों से मुखातिब होते हुए संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां ने कहा कि अच्छी खेल प्रतिभाओं को सामने के लिहाज से इस प्रतियोगिता को करवाया जा रहा है। अच्छे खिलाडी आगे आएंगे तो उन्हेें देश को सौंपेंगे। टैलेंट आगे आएगा तो इंडिया को आने वाले ओलंपिक में बहुत से मैडल लेकर आएगा। अगले ओलंपिक के लिए पूरा जोर शोर से तैयारियां करेंगे और इंडिया के प्लेयर काफी मैडल लेकर आएंगे। इस बार के ओलंपिक की तरह मैडलों के लिए तरसना नहीं पड़ेगा। इस ओलंपिक में सवा सौ करोड़ जनसंख्या वाले तथा पुरूष प्रधान कहलाने वाले देश में केवल बेटियां ही मैडल लेकर आई हैं। उन्होंने कहा कि वे सदैव कहते आए हैं कि बेटियां भी मां बाप और देश का नाम रोशन कर सकती हैं। लड़कों को अगर सुविधा दी जाए तो वो भी मैडल लेकर आ सकते हैं। उन्होंने कहा कि बॉक्सर विजेंद्र ने उनसे सिरसा में प्रशिक्षण केंद्र खोलने व यहां के खिलाडिय़ों को सिखने का भरोसा दिलाया है। अगर इस ओलंपिक में पदक जीतने वाली बेटियां भी यहां के खिलाडिय़ों को सिखाने के लिए आगे आएंगी तो उनका स्वागत है। संत डॉ. गुरमीत ने कहा कि खेलों को बढ़ावा देने के लिए गांव स्तर पर स्टेडियम हो, नशा बंद हो और जो नशेड़ी है, उनका इलाज करवाया जाए। उन्होंने कहा कि  आने वाले समय में इस खेल में विदेशी खिलाड़ी भी खेलते नजर आएंगे और इसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ले जाया जाएगा। उन्होंने बताया कि 'रूमाल छू' एथलेटिक्स, सर्कल कबड्डी, नेशनल कबड्डी, खो-खो तथा जूडो सहित कई खेलों का अद्भूत मिश्रण है,जिसे युवा वर्ग खूब पसंद कर रहा है। उन्होंने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर का यह स्टेडियम महज 3 दिन में बनाया गया है। 

उद्घाटन मौके पर हुआ रंगारंग कार्यक्रम
प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार 28 अगस्त तक चलने वाले इस टूर्नामैैंट के उद्घाटन अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें गुरु जी द्वारा प्रतियोगिता के लिए गाए गए एंथम 'हट पीछे, चल पीछे' तथा 'छू के दिखा रूमाल छू के दिखा' पर कलाकारों ने शानदार डांस प्रस्त्ुत कर सबका मन मोह लिया। गुरु जी द्वारा गाए गए 'जिएंगे मरेंगे मर मिटेंगे देश के लिए...' पर कलाकारों ने हैरत अंगेज करतब दिखाकर सबका दिल जीत लिया। तत्पश्चात प्रतिभागी टीम ने मार्च पास्ट किया । एमएसजी कंपनी के निदेशक सीपी अरोड़ा ने खिलाडिय़ों को  नशामुक्त होकर खेल की भावना से खेलने की शपथ दिलवाई। गुरू जी ने 'तिरंगा रूमाल छू लीग' के शुभारंभ की घोषणा की। तत्पश्चात सभी ने राष्ट्रीय गान किया।  

ये टीमें ले रही हैं भाग
बता दें कि टुर्नामेंट में एमएसजी तूफानी शेर, एमएसजी लठ गाड़ दे हरियाणा, एमएसजी चक्क दे फट्टे पंजाब, एमएसजी राजस्थानी सूरमा, एमएसजी दिल्ली के दिलेर, एमएसजी यूपी जाबांज, एमएसजी कैनेडियन काओ ब्वायज, तथा एमएसजी आस्ट्रेलियन बे्रव ब्वायज भाग ले रही है। प्रतियोगिता को लेकर वातानुकूलित अंतर्राष्ट्रीय स्तर का स्टेडियम बनाया गया है। दूधिया रोशनी में मैट पर प्रतियोगिताएं हो रही है। दर्शकों के बैठने के लिए भी जबरदस्त प्रबंध किए गए हैं। प्रतियोगिता को लेकर दो पूल बनाए गए हैं। पूल ए में 'तिरंगा रूमाल छू लीग', एमएसजी आस्ट्रेलियन बे्रव ब्वायज, एमएसजी राजस्थानी सूरमा तथा एमएसजी यूपी जांबाज टीमें हैं जबकि पूल बी में एमएसजी लठ गाड दे हरियाणा, एमएसजी चक दे फट्टे पंजाब, एमएसजी कनेडियन कॉउ बॉयज तथा एमएसजी दिल्ली के दिलेर शामिल है।

आईपीएल की तर्ज  पर हो रहा है टूर्नामैंट, विजेता को मिलेगा 50 लाख का ईनाम
बता दें कि आईपीएल की तर्ज पर हो रहे 'तिरंगा रूमाल छू लीग' में अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है। थर्ड एंपायर, कॉमेंट्री, चीयर्स लीडर्स के  साथ साथ खिलाडिय़ों के ठहरने वाले स्थानों पर भी कैमरे लगे हुए हैं, जिनके माध्यम से पूरी निगरानी की जाएगी। सभी खिलाडिय़ों के डोप टेस्ट करवाए गए हैं और आयोजकों का मुख्य उद्देश्य है कि नशा व मांसाहार न करने वाले खिलाड़ी ही आगे आएं। एमएसजी ऑल ट्रेडिंग कंपनी द्वारा आयोजित करवाई जा रही इस अंतर्राष्ट्रीय स्तर के टुर्नामेंट में  विभिन्न राज्यों से 8 टीमें भाग ले रही हैं। इसमें विजेता टीम को 50 लाख व उपविजेता टीम को 30 लाख रुपए का ईनाम दिया जाएगा, इसके अलावा मैन ऑफ द टुर्नामेंट को कार व मैन ऑफ द मैच को मोटरसाइकिल दी जाएगी। 

No comments