पापा कोच की खेल प्रतिभा की भी मुरीद हुई दुनिया

सिरसा(प्रैसवार्ता)। रूहानियत के क्षेत्र में तो पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के करोड़ों मुरीद हैं ही और अब पूज्य गुरुजी की खेल प्रतिभा के हुनर का लोहा भी दुनियां मान चुकी है। ट्वेटी टवेंटी और गुलस्टिक खेलों के बाद अब पूज्य गुरुजी रूमाल छू के रूप में एक और अहम खेल लेकर आएं हैं। पूज्य गुरुजी की इस अनमोल सौगात की खेल जगत की हस्तियों द्वारा भी सराहना की जा रही है। कुश्ती, सर्कल कबड्डी, ओपन कबड्डी, जूडो और खो खो खेल के अद्भूत मिश्रण वाला यह खेल स्पीड़, स्कील और पॉवर का गेम है। प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार करीब 30 मिनट के इस खेल में हार जीत का दारोमदार पूरी टीम पर रहता है। 'तिरंगा रूमाल छू लीग' टूर्नामेंट में भाग लेने आए खिलाडिय़ों ने भी इस खेल की सराहना की और इसे भविष्य का उभरता हुआ खेल बताया। टूर्नामेंट का समापन 28 अगस्त को होगा, जिसमें विजेता टीम को 50 लाख व उपविजेता टीम को 30 लाख रुपए का ईनाम दिया जाएगा। मैन ऑफ द टूर्नामेंट को ईनाम के रूप में कार दी जाएगी। 

No comments