कांग्रेस की तर्ज पर हरियाणा में हुई समान्तर भाजपा की शुरुआत

भिवानी(प्रैसवार्ता)। मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर से खफा चल रहे भाजपाई दिग्गजों ने समांतर भाजपा चलाने का मोर्चा खोल दिया है, जिसे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का आशीर्वाद भी बताया जाता है। काबिलेगौर है कि अमित शाह के हरियाणा के अग्रोहा आगमन पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दूरी बनाये रखी थी। वैसे भी मनोहर लाल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का खुला आशीर्वाद हासिल है। अमित शाह और मनोहर लाल के बीच चल रहे संबंधों से मनोहर लाल से नाराज भाजपाई दिग्गजों ने अमित शाह के दरबार में उपस्थिति दर्ज करवानी शुरु कर दी है। 7 नवंबर को जिले के तोशाम क्षेत्र में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की जनसभा में जिला के तीन  भाजपा विधायकों के शामिल होने से राजनीतिक गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है कि भाजपा का एक वर्ग कांग्रेस की तर्ज पर चलते हुए समांतर भाजपा की शुरुआत कर शीर्ष नेतृत्व पर दवाब बनाना चाहता है।  भाजपा में शामिल हुए अवसरवादियों को तव्वजों देने से भाजपाई नाराज है और उन्हें समांतर भाजपा के मंच पर जाना ही उचित नजर आ रहा है। भाजपाई संगठन और स्वयं सेवक संघ में सामांतर भाजपा को लेकर गहरी चिंताए देखने को मिल रही है। समांतर भाजपा  को लेकर शीर्ष नेतृत्व भी सकते में आ गया है। उत्पन्न हुई परिस्थितियों से कैसे निपटा जाए, को लेकर मंथन शुरू हो चुका है और ऐसी संभावनाएं बन रही है कि हरियाणा की कमान में बदलाव हो सकता है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के हरियाणा आगमन पर मुख्यमंत्री की अनुपस्थिति, तोशाम रैली में जिला के तीनों भाजपाई विधायकों के शामिल न होने, भाजपाई सांसदों की मनोहर लाल सरकार पर तीखी टिप्पणी, अफसरशाही का भाजपाई दिग्गजों को तव्वजों न देने से भाजपाई परिवार के बढऩे की बजाए बिखरने के आसार नजर आ रहे है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर स्वस्थ व स्वच्छ छवि के ईमानदार व्यक्तित्व है, मगर हरियाणा की राजनीति में ईमानदारी व वफादारी को तव्वजों बहुत कम मिलती है। मुख्यमंत्री की सोच पर हर मंत्री-संतरी खरा उतरे, बहुत कठिन है। यह कठिनाई मुख्यमंत्री के लिए परेशानी का सबब बन सकती है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल को नमो का आशीर्वाद कब तक रहेगा, को लेकर भी चर्चाओं का बाजार गर्म हैं। समय रहते भाजपाई शीर्ष नेतृत्व ने समांतर भाजपा को न रोका, तो हरियाणा में भाजपा को कांग्रेस जैसी राजनीतिक स्थिति का सामना करना पड़ सकता है, जहां आजकल कांग्रेसी दिग्गजों में ल_म ल_ का फ्रैंडली मैच चल रहा है।

No comments