इनैलो सांसद सहित कई माननीयों पर कानूनी शिंकजा कसने की तैयारी

सिरसा(प्रैसवार्ता)। रिहायशी मकान तथा कार इत्यादि पर कर्ज लेकर वापिसी जमा न करवाने वाले माननीयों पर कानूनी शिंकजा कसने की तैयारी शुरू हो गई है। ऐसे माननीयों में सिरसा संसदीय क्षेत्र से मौजूदा इनैलो सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र डूमरखां, इनैलो के पूर्व विधायक शाहिदा खान, कांग्रेस के पूर्व विधायक व वर्तमान में भाजपाई प्रौफेसर छत्रपाल सिंह, इनैलो से ही पूर्व विधायक ईश्वर सिंह पलाका, बसपा के पूर्व विधायक अर्जुन सिंह, निर्दलीय विधायक राधेश्याम आर्य, कांग्रेस की पूर्व विधायिका राजरानी पूनम, जनता पार्टी से पूर्व विधायक स्व. भरत सिंह, समता पार्टी से पूर्व विधायक स्व. चरणदास शोरेवाला, इनैलो से पूर्व विधायक स्व. दीनानाथ, मौजूदा कैबिनेट मंत्री कविता जैन, पूर्व विधायक शेर सिंह बडशामी, अकरम खान, सरोज मोर, नरेश सेलवाल, ओम प्रकाश जैन, रघुबीर सिंह, शेर सिंह, सुखबीर कटारिया, महेंद्र प्रताप, शिवचरण शर्मा, राजबीर सिंह तथा धर्मपाल इत्यादि शामिल है। विधानसभा हरियाणा सचिव ने सिरसा के उपायुक्त को जनवरी मास में पत्र लिखकर पूर्व विधायक एवं मौजूदा सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी के बकाया कर्ज को एरियर लैंड रवैन्यु घोषित किया है। इस पत्र में स्पष्ट किया गया है कि रोड़ी ने 21 जनवरी 2010 को कार के लिए पांच लाख रुपए का कर्ज लिया था, जिसके लिए उन्होंने कोई कागजात जमा नहीं करवाए और 18 मार्च 2014 को विधायक पद से अपना त्याग पत्र दे दिया, जिस पर 31 मार्च 2017 तक 2,99,542 रुपए ब्याज बनता है। सांसद रोड़ी ने 14 जुलाई 2011 तथा 30 जनवरी 2012 को मकान बनाने के लिए 20-20 लाख रुपए का कर्ज लिया, जो एक सौ मास में वापिस लौटाना था। बकाया राशि जमा करवाने के लिए कानूनी नोटिस रोड़ी को भेजे गए, मगर उन्होंने इसकी परवाह नहीं की। इन दोनो कर्ज मामलों में एक्शन टेकन रिपोर्ट न मिलने पर सरकार ने उपायुक्त सिरसा को 31 मार्च 2017 को पत्र लिखकर कानूनी कार्रवाई करने के  लिए कहा गया। सांसद रोड़ी का कहना है कि उन्होंने कर्ज वापिसी के लिए अपनी जमीन के कागजात तहसील में जमा करवा दिए है और अब बकाया कर्ज उनकी जमीन पर हो गया है। 

No comments