सिरसा के रामलीला इतिहास में पहली बार हुई राम-सीता की ऑरिजनल शादी

सिरसा(प्रैसवार्ता)। जी हाँ ! वो हजारों लोग रामलीला के मंच पर यह ऑरिजनल शादी देखकर दंग रह गए जिनकी आँखे इस अनूठी रस्म की गवाह बनी। सिरसा के इतिहास में पहली बार रामलीला के मंच पर भगवान श्री राम व सीता का ऑरिजनल स्वयंवर दर्शकों को देखने को मिला। प्रैसवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार श्री रामा क्लब की ओर से नेहरू पार्क में पिछले लगभग 68 सालों से रामलीला का शानदार मंचन किया जा रहा है। ऋषभ गाबा पिछले करीब चार सालों से इस रामलीला में राम का किरदार कर रहे है। क्लब के महासचिव एवं ऋषभ के पिता गुलशन गाबा की इच्छा थी कि उनके पुत्र ऋषभ गाबा की शादी रामलीला के मंच पर हो। इस इच्छा को आगे बढ़ाते हुए उनके पुत्र ऋषभ गाबा ने श्री राम के किरदार में बीती रात 24 सितंबर को रामलीला के भव्य मंच पर सीता का किरदार कर रही सिल्की खट्टर को जयमाला डाली। रामलीला के मंच पर पहली बार हुई वास्तविक शादी में राम का किरदार निभाने वाले ऋषभ गाबा व सीता बनी सिल्की खट्टर के रिश्तेदारों व परिचितों के अलावा हजारों शहरवासी शामिल हुए। सीता स्वयंवर के दौरान जयमाला के अद्भुत दृश्य ने सबको भावविभोर कर दिया। राम के साथ लक्ष्मण के रूप में गौरव मेहता उनके साथी थे तो सीता यानि सिल्की के साथ उनकी सखियां व रिश्तेदार थी। ससुर गुलशन गाबा भी बीच बीच में सिल्की को दृश्य की बारीकियां समझाते नजर आए। धनुष भंग करने व जयमाला ड़ालने के दौरान पूरा पंडाल तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठा। मंच पर सीता स्वयंवर के माध्यम से शादी रचाकर रामलीला के इतिहास में स्वर्णीम अध्याय जोडऩे वाले ऋषभ गाबा का कहना है कि वे पिछले 4 सालों से मंच पर राम का किरदार निभा रहे हैं। उन्हें बहुत खुशी हो रही है कि सादगी पूर्ण ढंग से और राम के रूप में ही उनकी शादी हुई है। ऋषभ गाबा बी कॉम व म्यूजिक में डिप्लोमा धारक हैं और श्री राम ग्लोबल बीआर स्कूल में संगीत अध्यापक हैं।  सीता के रूप में शादी रचाने वाली सिरसा निवासी सिल्की का कहना है कि अलग ही फीलिंग आ रही है। कभी सोचा भी नहीं था कि स्वयंवर के माध्यम से मेरी शादी होगी। बहुत खुशी हुई। सीता के रूप में अलग ही भाव आ रहे थे और बहुत गर्व है कि उन्हें पति के रूप में राम मिले हैं। सिल्की भी उच्च शिक्षित है तथा अध्यापन कार्य से जुड़ी हैं।

No comments