डेरा सच्चा सौदा से एक दर्जन से ज्यादा है लापता

सिरसा(प्रैसवार्ता)। डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय सिरसा में सर्च आपरेशन के उपरांत पुलिस प्रशासन ऐसे व्यक्तियों की तलाश में जुट गया है, जो डेरा परिसर में आने के बाद वापिस नहीं दिखाई दिए। परिजनों द्वारा उनके लापता होने की शिकायत पुलिस को दर्ज करवाई गई, जिसे खंगाला जाने लगा है। पुलिस ऐसे लोगों की सूची तैयार कर रही है, जो बाहर से अपनों को ढूंढने के लिए सिरसा आए हुए है। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार अभी तक पुलिस प्रशासन के पास 13 लापता लोगों का विवरण है, जिनमें से सतपाल बरेटा (15 मई 2013), मदन लाल आदमपुर(28 फरवरी 2016), शहादब (8 सितंबर 2009), टेकचंद अंबाला कैंट (29 दिसंबर 2012), बिट्टू सिंह  अंबाला (25 जनवरी 2012), ज्ञान चंद बिलासपुर-यमुनानगर(25 जनवरी 2012), अर्जुन कैथल (6 जुलाई 2014), शीशपाल मुस्ताबाद-यमुनानगर (3 अगस्त 2014), लाली, भिरडाना फतेहाबाद (24 अप्रैल 2011), प्रियंका बरवाला-हिसार(29 मई 2011), अमल प्रसाद काठमांडू (24 जनवरी 2015), छिन्द्रपाल कौर घडसाना-राजस्थान (29 अप्रैल 2012), राजीव अग्रवाल अंबाला (18 जून 2008) शामिल है,जो डेरा सौदा में आने उपरांत वापिस नहीं देखे गए। पुलिस प्रशासन ऐसे लोगों का विवरण भी जुटा रहा है, जो लोग दूसरे राज्यों से संबंधित होने बाद अपनों की ही डेरा परिसर में तलाश कर रहे है। राजस्थान की एक अदालत ने लापता गुड्डी की तलाश में डेरा परिसर में सर्च अभियान का आदेश जारी किया है। गुड्डी के पति ने डेरा प्रबंधकों व सेवादारों पर अपहरण का आरोप लगाते हुए अदालत में दस्तक दी है।

No comments