बाबा भीतर भेजा तो हनीप्रीत भी भीतर ही होगी: डीजीपी संधू

सिरसा(प्रैसवार्ता)। डीजीपी हरियाणा बीएस संधू ने कहा है कि हरियाणा पुलिस पंचकूला हिंसा को लेकर डॉ आदित्य इंसा, पवन इंसा व अन्य फरार आरोपियों की भी उतनी ही सरगर्मी से तलाश कर रही है जितनी की हनीप्रीत की। वे शनिवार को सुरखाब कांप्लेक्स में पुलिस अधिकारियों की बैठक लेने के बाद पत्रकार वार्ता में पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि पुलिस के विभिन्न दल आरोपियों की तलाश में अलग-अलग स्थानों पर दबिश दे रहे हैं, इसके अतिरिक्त अंतराष्ट्रीय एजेंसियों से भी  संपर्क बनाया गया है। एक सवाल के जवाब में डीजीपी ने कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो डेरामुखी से भी पूछताछ की जा सकती है। इस मामले में  पुलिस कर्मियों के शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पुलिस के कुछ जवानों पर पहले ही कड़ी कार्रवाई की गई है और जांच में किसी अन्य कर्मचारी की भी संलिप्तता पाई जाती है तो उसे भी बख्शा नही जाएगा।  नाम चर्चा घरों के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए श्री संधू ने कहा कि नाम चर्चा घरों में सत्संग एवं धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन करने देने के संबंध में अभी कोई  निर्देश नहीं दिए गए है। माननीय न्यायालय के फैसले के बाद ही इस बारे उचित कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि जो भी व्यक्ति कानून की अवहेलना व गलत कार्य करता है तो उनको बख्शा नहीं जाएगा तथा उचित कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। कानून सब के लिए बराबर है और उसकी पालना करनी चाहिए।  एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल, गुरूग्राम में छात्र प्रद्युमन की हत्या मामले में हरियाणा पुलिस द्वारा उचित कार्यवाही की गई और अपराधियों को पकड़ा गया। इस मामले में अब सीबीआई जांच कर रही है। उन्होंने स्कूली बच्चों की सुरक्षा के बारे में कहा कि प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थानों में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े प्रबंध किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए उनके माता-पिता तथा अध्यापकों का भी फर्ज बनता है कि वे सुरक्षा संबंधी अपने बच्चों पर विशेष ध्यान दे और उन्हें कानून एवं सुरक्षा नियमों बारे समय-समय पर विस्तृत जानकारी दे।  इससे पूर्व डीजीपी ने कानून व्यवस्था को और ज्यादा मजबूत बनाने बारे पुलिस अधिकारियों की बैठक को संबोधित किया तथा उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। उन्होंने डेरा मामले के दौरान जिला में सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों के साथ-साथ पुलिस जवानों और जिलावासियों की सराहना की।

No comments