हरियाणा भाजपा कांग्रेस संस्कृति की चपेट में

सिरसा(प्रैसवार्ता)। हरियाणा भाजपा पर कांग्रेसी संस्कृति का साया मंडराने लगा है, जो भाजपा मिशन 2019 के लिए शुभ संकेत नहीं कहा जा सकता। कांग्रेसी संस्कृति के इस साये को लेकर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ काफी चिंतित है। हरियाणा में भाजपाई नेतृत्व और संगठन की कार्यशैली को लेकर प्रदेश के कई दिग्गज व पदाधिकारी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, हरियाणा प्रभारी डॉ. अनिल जैन, भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजय वर्गीय तथा शिव प्रसाद, संगठन महामंत्री रामलाल के समक्ष अपना दुखड़ा सुना चुके है, मगर भाजपाईयों का शीर्ष नेतृत्व भाजपाई दिग्गजों व पदाधिकारियों की बजाए उन्हें तव्वजों दे रहा है, जिन्हें पार्टी संगठन में बागी, अवसरवादी तथा दागी कहा जाता है। प्रदेश भाजपा की फीडबैक लेने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री मुरलीधर राव ने सोनीपत में प्रदेश के पदाधिकारियों की बैठक ली, मगर वहां भी भाजपाई दिग्गजों की चीख पुकार गूंजती रही। राव की इस बैठक में राव बनाम राव मामला खूब उछला। दरअसल हाल ही में हुए गुरुग्राम नगर निगम चुनाव में राव इंद्रजीत केंद्रीय मंत्री तथा हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह की आँख मिचौली और टांग खिंचाई कार्यक्रम से भाजपा राजनीतिक रूप से घायल हुई। चौधर की राजनीतिक जंग में राव इंद्रजीत तथा राव नरबीर सिंह के राजनीतिक मतभेदों के लिए भाजपा प्रत्याशियों के विजयी प्राप्ति में भाजपाई ही बाधक बने है। इसी के साथ भाजपा हरियाणा में राव बनाम राव मामले में कांग्रेसी संस्कृति की उपस्थिति दर्ज करवा चुकी है। भाजपा का मिशन 2019 का लक्ष्य लेकर चुनावी तैयारी में सक्रियता बढ़ाने की योजना पर सक्रियता बढ़ाने के लिए प्रयासरत कही जा सकती है। भाजपा से भाजपाई दिग्गजों की नाराजगी का आंकड़ा भी बढ़ता देखा जाने लगा है। कांग्रेस से अलविदाई लेकर भगवा ध्वज उठाने वाले राजसी दिग्गजों द्वारा भाजपा संगठन में कांग्रेसी संस्कृति का प्रवेश करके भाजपा के लक्ष्य को पूरा करने में बाधक बनने की कवायद पर अमलीजामा पहनाया जाने की शुरूआत कर दी है।

No comments