सिरसा (मनमोहित ग्रोवर)। हरियाणवी कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष डॉ.अशोक तंवर प्रदेश मे अपनी राजनीतिक सक्रियता की बदौलत चर्चा में है। खुफिया त...

कांग्रेसी कल्चर के थ्री इन वन हैं डॉ. अशोक तंवर

सिरसा (मनमोहित ग्रोवर)। हरियाणवी कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष डॉ.अशोक तंवर प्रदेश मे अपनी राजनीतिक सक्रियता की बदौलत चर्चा में है। खुफिया तंत्र डॉ. अशोक तंवर पर नजर बनाए हुए हैं, क्योंकि इसके पास नेता कम और वर्करों की लंबी फौज है। देश-प्रदेश में लोगों द्वारा कांग्रेस को दिखाये गये आईने से कांग्रेसी ढांचा चरमराता नजर आने लगा था, मगर हरियाणा में डॉ. तंवर के संघर्ष और परिश्रम ने लडखडाती कांग्रेस को न सिर्फ उभारा, बल्कि अपनों के विरोध के बावजूद भी कांग्रेसी कुनबा बढाया और कांग्रेसजनों को संजीवनी देकर मजबूत किया। डॉ. तंवर की सोच रही है कि पार्टी को मजबूत बनाते हुए जन समस्याओं से वाकिफ होकर उनके समाधान का प्रयास किया जाये। डा.तंवर के अपने तथा विरोधी इस बात के तो कायल है कि इस कांग्रेसी नेता की वर्किंग की बदौलत हरियाणा में कांग्रेसी ग्राफ बढा है, क्योंकि पार्टी की सरकार बनाने के लिए, जो संघर्ष और प्रयास डॉ. तंवर कर रहे है, किसी अन्य पार्टी का कोई राजसी दिग्गज नहीं कर रहा। राजनीति के सभी पहलुओं के ज्ञाता डा.तंवर थ्री-इन वन हैं, जो पार्टी के हिचकोले खाते समय साथ रहने वालों, पार्टी में रहकर पार्टी विरोधी गतिविधियों में भागीदारी करने या फिर पार्टी छोडने वालों से पूर्णतया वाकिफ है। कौन पार्टी का हितैषी है या अपने साथ स्वार्थी बैग लेकर घूम रहा है। डॉ. तंवर के सी.सी.टी.वी कैमरे की नजर में है। अपनी मेहनत और संघर्ष के चलते डा. तंवर एक बडे कद्दावर नेता बन चुके हैं ।अपने चार वर्ष की प्रधानगी के कार्यकाल में डॉ. अशोक तंवर पार्टी के प्रति वफादारों को भी पहचान चुके हैं।  भविष्य में होने वाले हरियाणा विधानसभा चुनाव में ऊंट किस करवट बैठेगा, यह तो आने वाला समय ही बतायेगा, मगर यदि हरियाणवी मतदाता कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत देते हैं, तो डॉ. तंवर की लाटरी खुल सकती है।

0 comments: